/307500550/hocalwire_satya_new_ro_5d
हरियाणा
Breaking News : भिवानी खनन हादसे में रोहतक के व्यक्ति का शव और मिला, अब तक 5 की मौत, दो गंभीरराहत बचाव कार्य में जुटी टीम। 
हरियाणा

Breaking News : भिवानी खनन हादसे में रोहतक के व्यक्ति का शव और मिला, अब तक 5 की मौत, दो गंभीर

Manoj Jangra
|
2 Jan 2022 4:31 PM GMT

मृतकों में पंजाब के दिनेशदत्त के अलावा रोहतक के धर्मबीर, बागनवाला बिजेंद्र, बिहार का तूफान और जींद का संजय शामिल हैं। दो लोग गंभीर रुप से जख्मी हैं जिनका उपचार चल रहा है।

हरिभूमि न्यूज : भिवानी/तोशाम

गांव डाडम में चट्टान खिसकने से हुए दर्दनाक हादसे में बचाव कार्य के दौरान रविवार शाम को एक शव और मिला है। मृतक की पहचान रोहतक के भालौठ गांव के 52 साल के धर्मबीर के रूप में हुई है। उसका शव डंपर के केबिन में फंसा मिला। इस हादसे में अब तक पांच लोगों के शव मिल चुके हैं। शनिवार-रविवार की रात को भी एनडीआरएफ गाजियाबाद के बचाव दल में जर्मन शेफर्ड रोडरीक ने पंजाब के होशियारपुर जिले के दिनेशदत्त के शव के एक पत्थर के नीचे दबा होने के संकेत दिए। इस पर बचाव कार्य में जुटी एनडीआरएफ की टीम ने रात करीब सवा दो बजे शव का बाहर निकाला था। बचाव कार्य निरंतर अभी जारी है।

उल्लेखनीय है कि शनिवार की सुबह गांव डाडम की एक खान में एक भारी भरकम चट्टान खिसकने से बड़ा हादसा हो गया था। जिला प्रशासन ने एक तरफ जहां राहत कार्य शुरु करवाया,वहीं दूसरी ओर एनडीआरएफ गाजियाबाद के अधिकारियों से तुरंत संपर्क साधा। गाजियाबाद से डिप्टी कमांडेंट बेगराज मीणा के नेतृत्व में 42 लोगों की टीम शनिवार शाम को ही मौके पर पहुंची और तुरंत प्रभाव से बचाव कार्य में जुट गई। अब तक हादसे में पांच लोगों की मौत की पुष्टि हुई है, जिनमें पंजाब के दिनेशदत्त के अलावा रोहतक के धर्मबीर, बागनवाला बिजेंद्र, बिहार का तूफान और जींद का संजय शामिल हैं। दो लोग गंभीर रुप से जख्मी हैं जिनका उपचार चल रहा है।

मृतकों के परिजनों को दस-दस तो घायल को दिए जाएंगे दो-दो लाख रुपये

डाडम पहाड़ में हादसे के मामले को लेकर खनन करने वाली कंपनी गोवर्धन माइंस की तरफ से बड़ा बयान जारी हुआ है। इस मामले में कंपनी के माइनिंग मैनेजर संजय सिन्हा और सीईओ वेदपाल तंवर ने कहा कि कंपनी अपने नियमों के तहत खनन कर रही है। माइनिंग मैनेजर ने बताया कि जहां पर हादसा हुआ है उसके दोनों तरफ के पहाड़ वन विभाग के नियंत्रण में है वहां पर कोई भी खनन कार्य नहीं हो रहा है बल्कि कंपनी ने अपने हिस्से की भी कुछ क्षेत्र वन विभाग के लिए छोड़ रखा है पिछले करीबन दो माह से खनन कार्य पूरी तरह से बंद था एक जनवरी को ही खनन कार्य की शुरुआत होनी थी परंतु खनन की शुरुआत होने से पहले ही वन विभाग की तरफ की पहाड़ी से एक हिस्सा दरक कर गिर गया कंपनी पूरे नियमों के तहत खनन कार्य कर रही है हमने किसी भी नियम का उल्लंघन नहीं किया है वेदपाल तंवर ने बताया कि कंपनी हादसे में मरने वाले मजदूरों को 10-10 लाख रुपए और घायलों को 2-2 लाख रुपये सहायता राशि के तौर पर देगी और जो भी राहत कार्य जारी है हम उसमें प्रशासन का पूरा सहयोग कर रहे हैं।



Similar Posts