Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

अशोक गहलोत बोले- पंजाब की तरह राजस्थान में भी कृषि विधेयकों के खिलाफ जल्द लाएंगे विधेयक

कांग्रेस ने किसान विरोधी कृषि कानूनों का विरोध जारी रखा हुआ है, वहीं मंगलवार को पंजाब की कांग्रेस सरकार ने विधानसभा में इस संबंध में विधेयक पारित किया। अब खबर है कि राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत भी पंजाब के बाद राजस्थान में जल्द नया विधेयक लाने की तैयारी में हैं।

अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव परिणाम पर अशोक गहलोत का मोदी पर तंज, बोले- राहुल गांधी की सलाह हुई सही साबित
X

अशोक गहलोत

केंद्र सरकार द्वारा लाए गए नए कृष विधेयकों के खिलाफ विपक्ष हमलावर होता जा रहा है। किसाने तो इन विधेयकों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर ही रहे हैं मगर विपक्ष की तरफ से केंद्र सरकार को राजनीतिक टिप्पणियों का सामना करना पड़ रहा है। जब से इन विधेयकों के मामले में राजनीति गर्म हुई है तब से इस मामले ने तूल पकड़ लिया है।

कांग्रेस ने किसान विरोधी कृषि कानूनों का विरोध जारी रखा हुआ है, वहीं मंगलवार को पंजाब की कांग्रेस सरकार ने विधानसभा में इस संबंध में विधेयक पारित किया। अब खबर है कि राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत भी पंजाब के बाद राजस्थान में जल्द नया विधेयक लाने की तैयारी में हैं। बता दें कि पंजाब विधानसभा ने सर्वसम्मति से केंद्र सरकार के कृषि से जुड़े तीन कानूनों को निरस्त करने का प्रस्ताव पास किया है।

सीएम अशोक गहलोत ने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के नेतृत्व में हम किसानों के पक्ष में मजबूती से खड़े हैं. हमारी पार्टी किसान विरोधी कानून जो एनडीए सरकार ने बनाए हैं, उसका विरोध करती रहेगी। आज पंजाब की कांग्रेस सरकार ने इन कानूनों के विरुद्ध बिल पारित किए हैं और राजस्थान भी शीघ्र ऐसा ही करेगा। गहलोत की अध्यक्षता में मंगलवार शाम हुई मंत्रिपरिषद की बैठक में कृषि कानूनों के खिलाफ प्रस्ताव पारित करने और राज्य सरकार का अपना कानून बनाने को लेकर चर्चा हुई। इस बैठक में राज्य विधानसभा का सत्र बुलाने पर भी चर्चा हुई।

नवंबर के पहले सप्ताह में बुलाया जाएगा विशेष सत्र

बताया जा रहा है कि नवंबर के पहले सप्ताह में राजस्थान विधानसभा का विशेष सत्र बुलाया जाएगा। इस दौरान केंद्र के किसान कानून के खिलाफ फैसला लिया जाएगा। गहलोत मंत्रिपरिषद की बैठक में फैसला किया गया कि पंजाब की तर्ज पर ही राजस्थान सरकार तीन नए कानून बनाएगी।

Next Story