Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

राजस्थान में सियासी संकट गरमाया- सीएम गहलोत के आवास पर बैठक के लिए पहंचे 90 विधायक

राजस्थान में सियासी संकट गरमाता जा रहा है। सोमवार को पार्टी के 90 विधायक सीएम गहलोत के आवास पर बैठक के लिए पहुंचे। तरफ जहां राज्य के उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट के बगावती सुर पूरे राज्य में गूंज रहे हैं वहीं ऐसे में 90 विधायकों के सीएम आवास पहुंचने से यहां की राजनीति किस करवट बैठती है यह देखना बाकी है।

राजस्थान में सियासी संकट गरमाया- सीएम गहलोत के आवास पर बैठक के  लिए पहंचे 90 विधायक
X
गहलोत आवास

जयपुर। राजस्थान में सियासी संकट गरमाता जा रहा है। सोमवार को पार्टी के 90 विधायक सीएम गहलोत के आवास पर बैठक के लिए पहुंचे। तरफ जहां राज्य के उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट के बगावती सुर पूरे राज्य में गूंज रहे हैं वहीं ऐसे में 90 विधायकों के सीएम आवास पहुंचने से यहां की राजनीति किस करवट बैठती है यह देखना बाकी है। सीएम अशोक गहलोत की विधायकों के साथ बैठक उनके आवास पर हो रही है। बता दें कि पार्टी ने इस बैठक को लेकर व्हिप जारी किया है।

राजस्थान कांग्रेस प्रभारी अविनाश पांडे के अनुसार इस बैठक बगैर किसी सूचना के न शामिल होने वाले विधायकों पर अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी। इसी बीच कांग्रेस नेता पीएल पुनिया ने सचिन पायलट के भाजपा में शामिल होने के बायन को लेकर सफाई दी है। गौरतलब है कि उन्होंने कहा था कि सचिन पायलट अब भाजपा में शामिल हो गए हैं। कांग्रेस पार्टी के प्रति भाजपा के रवैये से सभी मुखातिब हैं। पार्टी को भाजपा से प्रमाणपत्र की आवश्यकता नहीं है। कांग्रेस पार्टी में, सभी नेताओं और कार्यकर्ताओं का सम्मान किया जाता है।

विधायक दल की बैठक में पांडे के अलावा रणदीप सुरजेवाला और अजय माकन भी शामिल हुए हैं। वहीं यह भी खबर समाने आई है कि कांग्रेस नेता केसी वेणुगोपाल आज जयपुर पहुंचेंगे।

समाचार एजेंसी एएनआइ के अनुसार आज की बैठक के लिए व्हिप जारी करने का निर्णय रविवार को मुख्यमंत्री गहलोत के निवास पर हुई एक बैठक के बाद लिया गया, जिसमें मंत्रियों सहित लगभग 75 विधायक शामिल हुए थे। बैठक के बाद, पांडे ने पार्टी के सहयोगी रणदीप सुरजेवाला और अजय माकन के साथ आज तड़के एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित किया। सुरजेवाला और माकन रविवार देर रात जयपुर पहुंचे थे। राज्य में पार्टी की सरकार को बचाने के लिए दो नेताओं को कांग्रेस ने केंद्रीय पर्यवेक्षकों के रूप में भेजा है।

Next Story