Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

पर्यटन केंद्रों पर महिलाओं को तैनात करने वाला देश का पहला राज्य होगा मप्र

मप्र संस्कृति विभाग एवं प्रबंध निदेशक पर्यटन बोर्ड के प्रमुख सचिव शिव शेखर शुक्ला ने कहा कि महिलाओं की दृष्टि से 50 से ज्यादा सुरक्षित पर्यटन स्पॉट तैयार किए जाएंगे।

पर्यटन केंद्रों पर महिलाओं को तैनात करने वाला देश का पहला राज्य होगा मप्र
X

भोपाल। संयुक्त राष्ट्र विश्व पर्यटन संगठन की 'समावेशी विकास के लिए पर्यटन' थीम पर सोमवार मिंटो हॉल में पर्यटन दिवस मनाया गया। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए पर्यटन और संस्कृति विभाग एवं प्रबंध निदेशक पर्यटन बोर्ड के प्रमुख सचिव शिव शेखर शुक्ला ने कहा कि महिलाओं की दृष्टि से 50 से ज्यादा सुरक्षित पर्यटन स्पॉट तैयार किए जाएंगे। यहां महिलाओं को भी रोजगार मिलेगा। करीब 2 हजार महिलाओं को पर्यटन केंद्रों के पास सेल्फ डिफेंस की ट्रेनिंग दी जाएगी। अभी हैरिटेज के 250 स्पॉट केंद्र सरकार और 750 राज्य संभाल रहा है। टूरिज्म सेक्टर से महिलाओं को जोड़ने के लिए टूरिज्म बोर्ड यूनेस्को के आह्वान पर महिलाओं के हाथों में यह कमान दी जाएगी। महिलाओं में आत्मबल बढ़ाने वाला यह भारत का पहला राज्य होगा।

होम स्टे के लिए 100 गावों को तैयार करेंगे

टूरिस्टों के होम स्टे के लिए ग्रामीण अंचलों में 100 गांव के लोगों को होम स्टे की ट्रेनिंग दी जाएगी। ताकि, टूरिस्ट परिवार के साथ गांव के दूर अंचलों में जाकर परिवार के बीच में रह सकें। वहीं, कृषि आधारित पर्यटन की दिशा में कदम बढ़ाया जाएगा। हॉर्टिकल्चर प्रोडक्ट गेहूं चावल, मिर्च संतरे, कई किस्म के प्रोडक्ट जो विदेशों में जाने जा रहे हैं, उन से जुड़ी जानकारी को पर्यटन के माध्यम से विदेशों तक प्रसारित करने की दिशा में काम करेंगे। इसके अलावा ग्वालियर और ओरछा के विरासत को ध्यान में रखकर शहर की योजना का खाका यूनेस्को की मदद तैयार किया जाएगा। कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि यूनेस्को की कल्चरल हेड जुन्ही हान के अलावा देशभर के यात्रा व्यापार संघों, होटल संघों, कला और शिल्प विशेषज्ञों, कृषि पर्यटन और होम स्टे विशेषज्ञों के सदस्य सत्रवार शामिल हुए।

Next Story