Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बोर्ड परीक्षा : डेटशीट से संतुष्ट हैं विद्यार्थी, लेकिन मौसम को देखते हुए टाइमिंग पर उठाए सवाल

मार्च के खुशनुमा मौसम में परीक्षा देते आ रहे छात्रों को इस बार मई-जून की भीषण गर्मी में परीक्षा देनी होगी, जब स्कूलों में गर्मी की छुट्टियों की तैयारी रहती है। छात्रों का कहना है कि सीबीएसई को इस बार की बोर्ड परीक्षा में पेपर सुबह जल्दी शुरू जल्दी समाप्त करना चाहिए था।

बोर्ड परीक्षा : डेटशीट से संतुष्ट हैं विद्यार्थी, लेकिन मौसम को देखते हुए टाइमिंग पर उठाए सवाल
X

बहादुरगढ़ : कक्षा में दूर-दूर बैठकर पढ़ते विद्यार्थी। 

हरिभूमि न्यूज : बहादुरगढ़

महामारी के दौर में ऑनलाइन पढ़ाई कर रहे छात्र बोर्ड परीक्षा मई में होने से खुश हैं। खुशी इस बात की है कि अब स्कूलों में शुरू हुई ऑफलाइन क्लास में शेष बचे दिनों में तैयारी अच्छी हो जाएगी। चिंता इस बात की भी है कि इस बार कठिन प्रश्नों के साथ ही गर्मी के मौसम में परीक्षा देने होगी। मार्च के खुशनुमा मौसम में परीक्षा देते आ रहे छात्रों को इस बार मई-जून की भीषण गर्मी में परीक्षा देनी होगी, जब स्कूलों में गर्मी की छुट्टियों की तैयारी रहती है। छात्रों का कहना है कि सीबीएसई को इस बार की बोर्ड परीक्षा में पेपर सुबह जल्दी शुरू जल्दी समाप्त करना चाहिए था।

सीबीएसई ने डेटशीट बनाने में इस बात का ध्यान रखा है कि किसी भी दिन परीक्षा केंद्र पर अधिक भीड़ न हो। इसी तरह पहली बार कुछ विषयों के पेपर दूसरी शिफ्ट में रखे गए हैं। केंद्रों पर कम संख्या में परीक्षार्थी आवंटित किए जाएंगे, जिससे शारीरिक दूरी का अनुपालन करते हुए बोर्ड परीक्षा संपन्न हो सके। बता दंे कि कक्षा 10वीं के विद्यार्थी 6 मई को इंग्लिश, 10 मई को हिंदी, 15 मई को साइंस, 21 मई को गणित, 27 मई को सोशल साइंस, 29 मई को इंफॉर्मेशन टेक्नोलाजी की परीक्षा देंगे। वहीं कक्षा 12वीं के विद्यार्थी 4 मई को इंग्लिश कोर, 8 मई को फिजिकल एजुकेशन, 12 मई को बिजनेस स्टडीज, 13 मई को फिजिक्स, 17 मई को एकाउंटेंसी, 18 मई को केमिस्ट्री, 24 मई बायोलाजी, 25 मई को इकोनोमिक्स, 29 मई को कंप्यूटर साइंस, एक जून को गणित, 7 जून को होम साइंस करी परीेक्षा देंगे।

दसवीं के स्टूडेंट सत्यम पाठक का कहना है कि परीक्षा केंद्रों पर व्यवस्था जरा भी खराब हुई तो गर्मी का असर हमारी एकाग्रता पर पड़ेगा। सीबीएसई की ओर से परीक्षा का समय साढ़े 10 की बजाए पहले किया जाना चाहिए था। जिससे 11 या 12 बजे तक परीक्षा समाप्त हो जाती और हम लोग गर्मी बढ़ने से पहले घर पहुंच जाते।

छात्र हितेष राठी के अनुसार आमतौर पर मार्च के अनुकूल मौसम में परीक्षा होती थी। डेटशीट से कोई समस्या नहीं है, लेकिन गर्मी ही इसका नकारात्मक पहलू है। इसके अलावा और कोई समस्या नहीं है। वर्तमान में हम लोग प्री-बोर्ड परीक्षा दे रहे हैं और बोर्ड परीक्षा की तैयारी के लिए समय भी काफी है। बोर्ड परीक्षा में प्रमुख विषयों के बीच पर्याप्त समय दिया गया है।

Next Story