Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

मिठाई व परचून की दुकान पर छह बच्चे कर रहे थे मजदूरी, टीम ने सभी को छुड़वाया

टीम ने गन्नौर गांव में समोसे तथा परचून की दुकानों पर छापामार कार्रवाई की। इन दुकानों पर टीम (Team) ने छह बच्चों को बाल मजदूरी करते हुए पाया, जिनकी सभी की आयु 15 वर्ष से कम थी।

मिठाई व परचून की दुकान पर छह बच्चे कर रहे थे मजदूरी, टीम ने सभी को छुड़वाया
X

छापामार कार्रवाई के दौरान टास्क फोर्स के अधिकारी।

हरिभूमि न्यूज. गन्नौर, जिला टास्क फोर्स ने गन्नौर गांव में विभिन्न दुकानों पर छापामार कार्रवाई करते हुए बाल मजदूरी करने वाले छह बच्चों को छुड़वाया है। सभी बच्चों को चाइल्ड वैल्फेयर कमेटी (सीडब्ल्यूसी) के समक्ष पेश किया गया, जिन्हें बाद में बाल देखभाल केंद्र सपना बाल कुंज में भेज दिया गया।

बाल संरक्षण अधिकारी (गैर-संस्थानिक) आरती ने जानकारी दी कि चाइल्ड हैल्पलाईन (Child helpline) - 1098 पर गन्नौर गांव के किसी व्यक्ति ने सूचना दी कि गन्नौर गांव में दुकानों पर बाल मजदूरी करवाई जा रही है। चाइल्ड लाइन ने इस संदर्भ में जिला बाल संरक्षण अधिकारी (डीसीपीओ) को पत्र लिखकर कार्रवाई के निर्देश दिए। इसके तुरंत बाद डीसीपीओ डा. रितु ने जिला टास्क फोर्स के सभी सदस्यों को इस संदर्भ में सूचित किया।

तुरंत प्रभाव से संबंधित विभागों के साथ मिलकर एक टीम का गठन किया गया। गठित टीम डीसीपीओ डा. रितु गिल व बाल संरक्षण अधिकारी आरती, सोशल वर्कर उपासना तथा स्टेट क्राइम ब्रांच के एएसआई जगबीर व सतबीर तथा जोगेंद्र और श्रम विभाग के सतबीर तथा चाइल्ड लाइन से अशोक शामिल रहे।

इस टीम ने गन्नौर गांव में समोसे तथा परचून की दुकानों पर छापामार कार्रवाई की। इन दुकानों पर टीम ने छह बच्चों को बाल मजदूरी करते हुए पाया, जिनकी सभी की आयु 15 वर्ष से कम थी। सभी बच्चों को आगामी कार्रवाई के लिए छुड़ाकर चाइल्ड वैल्फेयर कमेटी (सीडब्ल्यूसी) के समक्ष प्रस्तुत किया गया। सीडब्ल्यूसी ने फिलहाल सभी छह बच्चों को बाल देखभाल केंद्र में भेज दिया है।



Next Story