Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

रोडवेज की गुलाबी बसें भी उतरेंगी अब रूटों पर

कोरोना की दूसरी लहर के दौरान कोरोना संक्रमण के मामले बहुत बढ़ गए थे। ऐसे में रोडवेज की गुलाबी बसों की सीटें उतार कर उन्हें मोबाइल एंबुलेंस के तौर पर तैयार किया गया था। तब इनका प्रयोग भी किया गया लेकिन अब जिले में कोरोना संक्रमण के मामले न के बराबर हैं और कोरोना का केवल एक ही एक्टिव केस बचा है तो इन बसों को वापस से रोडवेज में भेज दिया गया है।

रोडवेज की गुलाबी बसें भी उतरेंगी अब रूटों पर
X

हरिभूमि न्यूज. जींद

कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर के दौरान जींद डिपो प्रबंधन ने विभागीय दिशा-निर्देशानुसार रोडवेज की पांच गुलाबी बसों की सीटों को निकालकर उन्हें एंबुलेंस बना दिया था। इस दौरान ये बसें नागरिक अस्पताल की सेवा में मरीजों को लाने व ले जाने का कार्य करती थी। अब कोरोना संक्रमण के मामले न के बराबर आ रहे हैं। ऐसे में रोडवेज ने इस बसों को वापस अपने अंडर ले लिया था। अब इन बसों को दोबारा से शुरू किया जा रहा है। छात्राओं के लिए स्पेशल इन बसों के चलने के बाद सैंकड़ों छात्राओं को लाभ पहुेचेगा।

गौरतलब है कि कोरोना की दूसरी लहर के दौरान कोरोना संक्रमण के मामले बहुत बढ़ गए थे। ऐसे में रोडवेज की गुलाबी बसों की सीटें उतार कर उन्हें मोबाइल एंबुलेंस के तौर पर तैयार किया गया था। तब इनका प्रयोग भी किया गया लेकिन अब जिले में कोरोना संक्रमण के मामले न के बराबर हैं और कोरोना का केवल एक ही एक्टिव केस बचा है तो इन बसों को वापस से रोडवेज में भेज दिया गया है। इन बसों में दोबारा से सीटें फिट कर रूटों पर उतारने के लिए रेडी कर दिया गया है। वीरवार को रोडवेज जीएम गुलाब सिंह दूहन ने बसों में सीटें लगाने के बाद इनका निरीक्षण किया और उन्हें रूटों पर उतारने के लिए मंजूरी दी। अब प्रबंधन द्वारा रूट मैप बनाया जाएगा और जिस रूट पर छात्राओं की संख्या 'यादा होगी, उसी रूट पर बसों को शुरू कर दिया जाएगा।

गुलाबी बसों के लिए रूट मैप किया जा रहा है तैयार : जीएम

जींद डिपो के महाप्रबंधक गुलाब सिंह दूहन ने बताया कि गुलाबी बसों को फिर से रूटों पर उतारा जा रह है। इससे छात्राओं को बेहतर परिवहन सुविधा मिलेगी। बसों को लेकर रूट मैप तैयार किया जा रहा है। जिस रूट पर छात्राओं की संख्या अधिक होगी उस रूट पर इन बसों को चलाया जाएगा।

Next Story