Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

मंदबुद्धि युवती से दुष्कर्म, पेट में दर्द हुआ तो पता चला सात माह की गर्भवती

अस्पताल में उसने अल्पविकसित बच्चे को जन्म दिया, जिसकी कुछ देर बाद मौत हो गई। पुलिस ने युवती की मां की शिकायत पर दुष्कर्म की रिपोर्ट दर्ज कर ली है। अस्पताल से छुट्टी होने के बाद विशेषज्ञों की मदद से युवती से आरोपित की जानकारी लेने का प्रयास किया जाएगा।, गर्भवती

शर्मसार घटना : पहले नाबालिग बच्ची को दरिंदों ने शराब पिलाई, फिर किया गैंगरेप
X

हरिभूमि न्यूज : सोनीपत

मंदबुद्धि युवती से किसी ने दुष्कर्म कर दिया। अल्पविकसित मस्तिष्क के चलते वह इसकी जानकारी अपने स्वजनों को नहीं दे सकी। अब पेट में दर्द होने पर उसको अस्पताल ले जाया गया तो सात महीने की गर्भवती मिली। अस्पताल में उसने अल्पविकसित बच्चे को जन्म दिया, जिसकी कुछ देर बाद मौत हो गई। पुलिस ने युवती की मां की शिकायत पर दुष्कर्म की रिपोर्ट दर्ज कर ली है। अस्पताल से छुट्टी होने के बाद विशेषज्ञों की मदद से युवती से आरोपित की जानकारी लेने का प्रयास किया जाएगा।

कुंडली की एक कालोनी में रहने वाले परिवार की 20 वर्षीय युवती मंदबुद्धि है। वह अपने ज्यादातर मनोभाव स्वजनों के सामने स्पष्ट नहीं कर पाती है। वह कभी-कभार घूमने के लिए अपनी कालोनी में निकल जाती है। स्वजनों के अनुसार कुछ समय से उसका व्यवहार बदला हुआ था। वह दो दिन से उदास थी। शुक्रवार सुबह को उसके पेट में दर्द होने लगा। इस पर स्वजन उसको लेकर अस्पताल पहुंचे। जहां पर चिकित्सकों ने बताया कि वह सात महीने की गर्भवती है। उसके साथ किसी ने दुष्कर्म कर दिया था, जिससे वह गर्भवती हो गई थी। मानसिक रूप से अविकसित होने की वजह से वह परिवार के लोगों को इसकी जानकारी नही दे सकी। हालत बिगड़ने पर चिकित्सकों को उसकी प्रीमेच्योर डिलिवरी करनी पड़ी। बेटी ने एक बच्चे को जन्म दिया। वह भी जन्म के कुछ देर बाद ही मर गया। इसके बाद कुंडली थाना पुलिस को इसकी सूचना दी गई। पुलिस ने पीड़िता की मां के बयान पर अज्ञात आरोपित के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है।

डीएनए सैंपल किया सुरक्षित

कुंडली थाना पुलिस नवजात बच्चे का डीएनए सैंपल सुरक्षित कर लिया है। इसको जांच के लिए विधि विज्ञान प्रयोगशाला भेजा जाएगा। आरोपित के पकड़े जाने पर उसके डीएनए से इसका मिलान किया जाएगा। डीएनए सैंपल आरोपित को सजा दिलाने का सबसे पुख्ता सबूत बनेगा। वहीं पुलिस ने मंदबुद्धि बच्चों से संवाद करने वाले विशेषज्ञों को भी बुलाने का निर्णय लिया है। उससे काउंसलिंग कराने के बाद युवती से घटना के बारे में जानकारी जुटाई जाएगी।

पीड़िता के परिजनों से जानकारी ली जा रही है कि वह कालोनी में किस-किसके घर पर जाती थी। उसके आधार पर जांच की जाएगी। अस्पताल से छुट्टी होने पर विशेषज्ञों की मदद से पीड़िता से जानकारी करने का प्रयास किया जाएगा। पुलिस हर हाल में आरोपित तक पहुंचने का प्रयास करेगी। इसके लिए स्पेशल टीम गठित कर दी गई है। - रवि कुमार, एसएचओ, थाना कुंडली।

Next Story