Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

नकाबपोशों ने घर में घुसकर लाखों की नकदी व सोना लूटा, युवती को कमरे में किया बंद

घटना की सूचना पाकर शहर थाना प्रभारी सुनील, सीआईए स्टाफ की टीम ने मौके पर पहुंच कर हालातों का जायजा लिया। मकान के आसपास लगे सीसीटीवी में एक लूटेरे युवक की पहचान हुई है। जिसे पुलिस ने हिरासत में ले लिया।

नकाबपोशों ने घर में घुसकर लाखों की नकदी व सोना लूटा, युवती को कमरे में किया बंद
X

 लूटेरों द्वारा खंगाला गया सामान।

हरिभूमि न्यूज : जींद

श्याम नगर में शुक्रवार को नकाबपोश दो युवकों ने युवती को चाकू के बल पर बंधक बनाकर घर से लगभग 16 लाख रुपये की नकदी और 20 तोले सोना के जेवरातों को लूट लिया। लूटेरे युवती को कमरे में बंद कर बाहर कुंडी लगाकर फरार हो गए। घटना की सूचना पाकर शहर थाना प्रभारी सुनील, सीआईए स्टाफ की टीम ने मौके पर पहुंच कर हालातों का जायजा लिया। मकान के आसपास लगे सीसीटीवी में एक लूटेरे युवक की पहचान हुई है। जिसे पुलिस ने हिरासत में ले लिया। फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है।

श्याम नगर निवासी अरूण कुमार शुक्रवार को कार्यवश बाहर गया हुआ था। उसका भाई मनोज उसकी पत्नी को दवाई दिलाने के लिए सामान्य अस्पताल आया हुआ था। घर में 17 वर्षीय बेटी कशिश मौजूद थी। लगभग दस बजे नकाबपोश दो युवक घर में घुस आए और कशिश को चाकू के बल पर काबू कर उसे कमरे में बंद कर बाहर से कुंडी लगा दी। जिसके बाद मकान में घुसे लूटेरों ने लगभग 16 लाख रुपये की नकदी और 20 तोले सोना के जेवरातों को लूट लिया और फरार हो गए। घटना का उस समय पता चला जब परिवार का सदस्य मकान में पहुंचा और सामान को अस्त व्यस्त पाया। उसी व्यक्ति ने कुंडी खोलकर लड़की को बाहर निकाला और घटना की सूचना पुलिस को दी।

घर में रखी राशि के बारे में परिजनों का कहना था कि वे मकान का निर्माण कर रहे हैं और उसी के सिलसिले में राशि को एकत्र किया हुआ था। मौके पर पहुंची पुलिस ने मकान के आसपास लगे सीसी टीवी कैमरों की फुटेज को खंगाला तो उसमे दिखाई देने वाले लूटेरों में एक युवक की पहचान सोलगर कालोनी निवासी पवन के रूप में हुई है। जिसके आधार पर मौके पर पहुंची सीआईए स्टाफ वन तथा टू ने पवन के ठिकाने पर दस्तक दी। फिलहाल पुलिस पवन से पूछताछ कर रही है।

शहर थाना प्रभारी डा. सुनील कुमार ने बताया कि सीसी टीवी फुटेज में जो युवक दिखाई दिया उससे पूछताछ की जा रही है। अभी तक परिजनों द्वारा लिखित में शिकायत नहीं दी गई है, पूछताछ के बाद ही असलीयत सामने आ पाएगी।

Next Story