Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Made in china डॉक्टरों को देश ने इंटर्नशिप में दी ये राहत, नहीं करनी होगी दोबारा इंटर्नशिप

मेडिकल एजूकेशन (Medical education) के संयुक्त सचिव अरुण सिंघल ने भारत सरकार के स्वास्थ्य एव परिवार कल्याण की ओऱ से एक नोटिस जारी किया गया है। जिस नोटिस में साफ कर दिया गया है कि बाहर चीन में 12 माह की इंटर्नशिप कर चुके युवाओं को दोबारा से ही यह नहीं करनी होगी।

एमबीबीएस की परीक्षाएं होंगी, एमसीआई की तरफ से जारी की गईं ये गाइडलाइन
X
एमबीबीएस (प्रतीकात्मक फोटो)

योगेंद्र शर्मा. चंडीगढ़

देश के विभिन्न राज्यों से चीन, नेपाल, बांग्लादेश में एमबीबीएस (MBBS) व इंटर्नशिप कर लौटने वाले युवाओं के लिए एक राहतभरी खबर है। अब विभिन्न राज्यों में उनका पंजीकरण को लेकर आ रही दिक्कत समाप्त होगी साथ ही दोबारा से इंटर्नशिप करने का झंझट समाप्त हो गया है।

इससे उनका समय और पैसा दोनों की बचत होगी काफी समय से कईं राज्यों में इन देशों से मेडिकल की पढ़ाई करके आने वाले युवाओं को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा था। इसके साथ ही अब इसी माह 31 अगस्त को एफएमजीई की परीक्षा पूरे भारत में एक साथ होगी, उसको उर्तीण करने वाले युवा इस करने के साथ ही प्रैक्टिस के लिए फील्ड (Field) में उतर सकेंगे।

इस संबंध में मेडिकल एजूकेशन के संयुक्त सचिव अरुण सिंघल ने भारत सरकार के स्वास्थ्य एव परिवार कल्याण की ओऱ से एक नोटिस जारी किया गया है। जिस नोटिस में साफ कर दिया गया है कि बाहर चीन में 12 माह की इंटर्नशिप कर चुके युवाओं को दोबारा से ही यह नहीं करनी होगी।

फारेन मेडिकल ग्रेजूएट एग्जाम पास करने के बाद में सभी फील्ड में प्रैक्टिस कर सकेंगे। अब से पहले इसमें कईं तरह के असमंजस और परेशानी आ रही थी। अरुण सिंघल ने 30 जुलाई को जारी एक पत्र के माध्यम से एडवाइजरी जारी करते हुए इस बारे में पेश आ रही समस्याओं को दूर कर दिया है। संयुक्त सचिव की ओऱ से सचिव स्वास्थ्य मंत्रालय के साथ साथ बाकी विभागों के अध्यक्षों को इसकी कापी भेजी गई है।

देश को मिलेंगे तीन हजार के करीब डाक्टर

कोरोना संक्रमण के कारण इस बार एफएमजीई की जून में होने वाली परीक्षा में भी काफी विलंब हुआ, जो इसी माह होने जा रही है। इसका सितंबर में परिणाम आ जाएगा, जिसके बाद में देश को ढाई से तीन हजार डाक्टर भी मिल जाएंगे। कोविड के कारण प्रक्रिया देरी से आरंभ हुई औऱ परीक्षा होने के बाद में परिणाम आते ही विभिन्न प्रदेशों को डाक्टर मिल सकेंगे, दूसरा चीन को लेकर उठ रहे सवाल भी अब समाप्त हो गए हैं।



Next Story
Top