Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

हरियाणा के किसान संगठनों ने संयुक्त मोर्चा बनाने का निर्णय लिया, जानें क्या कहा

हरियाणा के संयुक्त मोर्चा के पदाधिकारियों का निर्णय अगली बैठक में होगा। साथ ही हरियाणा के किसान संगठनों के प्रमुखों ने दो टूक शब्दों में कहा कि एमएसपी की गारंटी का कानून बनाए बिना आंदोलन खत्म नहीं होगा।

हरियाणा के किसान संगठनों ने संयुक्त मोर्चा बनाने का निर्णय लिया, जानें क्या कहा
X

बहादुरगढ़ : बैठक में अपनी बात रखते हरियाणा के किसान संगठनों के प्रतिनिधि।

हरिभूमि न्यूज. बहादुरगढ़

वीरवार को टीकरी बॉर्डर पर हरियाणा के विभिन्न किसान संगठनों की मीटिंग हुई। इसमें भारतीय किसान यूनियन के प्रदेशाध्यक्ष गुरनाम सिंह चढूनी की मौजूदगी में हरियाणा के संगठनों का संयुक्त मोर्चा बनाने का निर्णय लिया गया। हरियाणा के संयुक्त मोर्चा के पदाधिकारियों का निर्णय अगली बैठक में होगा। साथ ही हरियाणा के किसान संगठनों के प्रमुखों ने दो टूक शब्दों में कहा कि एमएसपी की गारंटी का कानून बनाए बिना आंदोलन खत्म नहीं होगा।

बता दें कि बुधवार 20 जनवरी को सरकार और किसान यूनियनों के पदाधिकारियों की बैठक में केवल तीन कानूनों को ही कुछ समय के लिए स्थगित करने पर चर्चा हुई। जबकि एमएसपी पर कोई बात नहीं होने से हरियाणा के किसान संगठन आहत नजर आए।

वीरवार को हरियाणा के किसान संगठनों ने बहादुरगढ़ के बाईपास पर बैठक का आयोजन किया। जिसमें हिसार के किसान नेता सुरेश कौंथ ने कहा कि पंजाब के किसानों की प्राथमिकता जहां तीन कृषि कानूनों को खत्म करवाने की है, तो हरियाणा के किसानों की मुख्य मांग न्यूनतम समर्थन मूल्य की गारंटी को लेकर कानून बनवाना रही है। उन्होंने कहा कि इसके बगैर हरियाणा के किसान आंदोलन खत्म नहीं करेंगे।

बैठक में राष्ट्रीय किसान संगठन के जसबीर सिंह भट्ठी, खेती बचाओ संघर्ष समिति के जरनैल सिंह, हरियाणा किसान एकता के गुरप्रेम सिंह, हरियाणा एमएसपी संघर्ष समिति के प्रदीप धनखड़, किसान संघर्ष समिति के गुरदारा सिंह, गन्ना किसान संघर्ष समिति के विनोद राणा, अखिल भारतीय स्वामीनाथन संघर्ष समिति के विकल पवार, राष्ट्रीय टोल हटाओ संघर्ष समिति के नरेंद्र हुड्डा, गुलिया खाप-84 के सुनील कुमार, एआईकेएस के डॉ. इंद्रजीत, राष्ट्रीय किसान मजदूर संगठन के अरविंद बेनिवाल, राष्ट्रीय किसान संगठन के गुरनाम सिंह झब्बर, जय किसान आंदोलन के मनोज सहरावत, संदीप श्योकंद, आत्मा राम, संदीप शेरपुरा, जितेंद्र धनखड़, हरपाल सिंह व लखविंद्र सिंह आदि मौजूद रहे।

Next Story