Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कर्मचारियों ने कृषिमंत्री का आवास घेरा, जानें क्यों

पुलिस प्रशासन द्वारा बैरीगेट लगाकर कर्मचारियों को रोकना चाहा लेकिन कर्मचारी नहीं रुके तथा बैरीकेट हटाकर मंत्री आवास पर पड़ाव डाल दिया। कृषिमंत्री की अनुपस्थिति में उनके पीए को 21 सूत्रीय मांगों का ज्ञापन दिया गया।

कर्मचारियों ने कृषिमंत्री का आवास घेरा, जानें क्यों
X

भिवानी : मांगों को लेकर शहर में जुलूस निकालते सर्व कर्मचारी संघ के सदस्य।

हरिभूमि न्यूज : भिवानी

सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा सम्बंधित अखिल भारतीय राज्य सरकारी कर्मचारी फैडरेशन के आह्वान पर झज्जर व भिवानी जिले के कर्मचारी अपनी मांगों को लेकर हुडा पार्क में एकत्रित हुए तथा सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। कर्मचारियों ने चेतावनी दी कि जब तक उनकी मांगों को पूरा नहीं किया जाता। तब तक उनका आंदोलन जारी रहेगा।

विरोध प्रदर्शन की संयुक्त अध्यक्षता मास्टर सुखदर्शन सरोहा व रामबीर सिंह द्वारा की गई तथा संचालन संगठन सचिव सहदेव रंगा ने किया। कर्मचारी अपनी मांगों की पट्टी व बैनर लेकर हुडा पार्क से बासिया भवन, रेस्ट हाऊस, पुलिस लाइन होते हुए कृषिमंत्री आवास पर पहुंचे। पुलिस प्रशासन द्वारा बैरीकेट लगाकर कर्मचारियों को रोकना चाहा लेकिन कर्मचारी नहीं रुके तथा बैरीकेट हटाकर मंत्री आवास पर पड़ाव डाल दिया। कृषिमंत्री की अनुपस्थिति में उनके पीए को 21 सूत्रीय मांगों का ज्ञापन दिया गया।

मुख्य वक्ता के तौर पर सकसं राज्य उपाध्यक्ष व हरियाणा विद्यालय अध्यापक संघ के महासचिव मा. जगरोशन ने कहा कि राज्यभर में कर्मचारी अपनी मांगोंं को लेकर मंत्रियों के आवासों पर प्रदर्शन कर रहे हैं, लेकिन राज्यमंत्री व कैबिनेट मंत्री नदारद मिले हैं। जनता के सेवक कहलाने वाले भाजपा, जजपा गठबंधन सरकार के मंत्री किसान, मजदूर, कर्मचारी व आमजन के विरोध का सामना नहीं कर पा रहे हैं। सरकारी विभाग, ठेकेदारों के हवाले कर दिये तथा भारी भरकम लूट मचाई जा रही है। आउटसोर्सिंग कर्मचारियों से दिन रात गुलामों की तरह काम लिया जा रहा है तथा मामूली वेतन भी समय नहीं दिया जा रहा है। सरकारी विभागों से आउटसोर्सिंग कर्मचारियों को जबरन निकाला जा रहा है। सरकार अफसरशाही व ठेकेदार मिलकर मलाई खा रहे हैं। आमजन भूखमरी के कगार पर खड़ा हो गया है।

वक्ताओं ने सौंपे ज्ञापन में बताया कि पेट्रोल,डीजल, गैस व खादय सामग्री आम व्यक्ति की पहुंच से बाहर हो गये हैं। भाजपा, जजपा नेता चुनाव के दौरान कर्मचारियों से बड़े, बड़े वायदे किये थे,लेकिन मंत्री जनता के सामने आने से कतरा रहे हैं।

Next Story