Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

स्टेशन मास्टर भाई को फोन करके कहा मेरे बेटे का ख्याल रखना, फिर दंपती ने ट्रेन के आगे कूदकर की आत्महत्या

आधी रात के बाद भाई को दोनों के आत्महत्या करने की खबर मिली। दंपती ने आत्महत्या क्यों की, परिजन कुछ भी बताने की स्थिति में नहीं हैं। मृतकों की पहचान नंगला एंक्लेव पार्ट दो निवासी मनीष शुक्ला और सुनीता पत्नी मनीस शुक्ला के रूप में हुई है।

दो बेटों की हत्या कर महिला ने दी जान
X

आत्महत्या (प्रतीकात्मक फोटो)

फरीदाबाद। बल्लभगढ़ रेलवे स्टेशन पर तैनात स्टेशन मास्टर के भाई और उनकी पत्नी ने शनिवार देर रात ट्रेन के आगे कूदकर आत्महत्या कर ली। सूचना पर पहुंची आरपीएफ व जीआरपी ने शवो को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। दंपती अपने आठ साल के बेटे को घर पर छोडक़र शाम को निकले थे। फिर देर रात स्टेशन मास्टर भाई को फोन कर बेटे का ख्याल रखने की बात कहकर फोन बंद कर लिया। आधी रात के बाद भाई को दोनों के आत्महत्या करने की खबर मिली। दंपत्ति ने आत्महत्या क्यों की, परिजन कुछ भी बताने की स्थिति में नहीं हैं। मृतकों की पहचान नंगला एंक्लेव पार्ट दो निवासी मनीष शुक्ला (35) और सुनीता पत्नी मनीस शुक्ला (33) के रूप में हुई है।

जानकारी के अनुसार नंगला एंक्लेव पार्ट दो निवासी अमित शुक्ला बल्लभगढ़ रेलवे स्टेशन पर स्टेशन मास्टर हैं। वह अपने परिवार के साथ रहते हैं। शनिवार को उनका भाई मनीष और उसकी पत्नी सुनीता शाम पांच बजे अपने आठ साल के बेटे को घर पर छोडक़र निकले थे। रात करीब नौ बजे जब स्टेशन मास्टर ने फोन किया तो मनीष ने कहा कि मैं नहीं आऊंगा, मेरे बेटे का ख्याल रखना। 9.45 बजे फिर स्टेशन मास्टर ने फोन कर उसे तुरंत घर आने को कहा लेकिन उसने बात कराने के बाद मोबाइल बंद कर दिया। रात करीब एक बजे मनीष और उसकी पत्नी सुनीता का शव नीलम पुल के पास रेलवे ट्रैक पर पड़ा मिला। जांच अधिकरी सब इंस्पेक्टर राजपाल ने बताया कि शवों का पोस्टमार्टम करा परिजनों को सौंप दिया। दोनों ने आत्महत्या क्यों की परिजन कुछ भी बताने की स्थिति में नहीं हैं।


Next Story