Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

आदिबद्री स्थित सरस्वती सरोवर पर सुबह-शाम होगी आरती

सरोवर में किनारों के पास स्थित पहाड़ों की मिट्टी के बहाव को बरसाती पानी के साथ सरोवर में आने से राकेने के लिए विशेष प्रबध करवाया जाएगा।

आदिबद्री स्थित सरस्वती सरोवर पर सुबह-शाम होगी आरती
X

 बिलासपुर में अधिकारियों की बैठक लेते एसडीएम।

----

हरिभूमि न्यूज. यमुनानगर

आदिबद्री स्थित सरस्वती सरोवर पर सुबह-शाम हरिद्वार की तर्ज पर आरती होगी। जिससे लोगों की आस्था सरस्वती नदी को लेकर बढ़ेगी। यह जानकारी एसडीएम बिलासपुर वीरेंद्र सिंह ढुल ने आदिबद्री के विकास व सरोवर की सफाई को लेकर उपमंडल के संबंधित विभागों के अधिकारियों की बैठक में दी। इसके साथ ही सरस्वती नदी उद्गम स्थल पर बने सरस्वती सरोवर में पूरा वर्ष श्रद्धालुओं को स्वच्छ पानी उपलब्ध करवाने को लेकर सरोवर की मुरम्मत करवा दुरूस्त करवाने के निर्देश दिए गए।

एसडीएम ने बताया कि प्रदेश में सरस्वती की धारा को प्रवाहित करने के लिए हरियाणा सरस्वती हैरिटेज बोर्ड का गठन किया गया है। बोर्ड के माध्यम से विकास की योजनाओं को पूरा किया जाएगा। स्थानीय संस्थाओं को भी सरस्वती नदी की पवित्र धारा को लेकर सहयोग लिया जाएगा। ताकि समाज के प्रत्येक वर्ग को सरस्वती की महत्वता के बारे में जानकारी हो। उन्होंने बताया कि सरोवर में किनारों के पास स्थित पहाड़ों की मिट्टी के बहाव को बरसाती पानी के साथ सरोवर में आने से राकेने के लिए विशेष प्रबध करवाया जाएगा। जिसके लिए संबंधित विभाग के अधिकारियों को निदेर्ेश दे दिए गए है। सरोवर के आस पास व सरस्वती उद्गम स्थल पर पर्याप्त मात्रा में रोशनी का प्रबंध रहे इसके लिए लाईिटंग की व्यवस्था की जाऐगी। ताकि दिन ढलते भी सरोवर व उद्गम स्थल के दर्शन रोशनी में किए जा सकेंगे।

उन्होंने बताया कि सरस्वती सरोवर के किनारे सुबह व शाम गंगा मैया की तरह आरती कार्यक्त्रम का प्रबंध किया जाएगा। सरोवर के समीप लगे साउंड स्पीकरों की बंदरों व जानवरों से बचाव को लेकर साउड सिस्टम के आस पास जाली लगाई जाऐगी। सरस्वती सरोवर की सफाई को निरंतर बनाए रखने के लिए वन विभाग को निर्देश दिए गए कि सरोवर में जिस जगह से जंगल व आस पास की नदी से जानवरों का प्रवेश हो उस जगह पर जाली लगा कर सुरक्षा की जाए। सरस्वती उद्गम स्थल व सरोवर के विकास के लिए सभी अधिकारियों को निर्देश दिए जो विकास कार्य चल रहे है उन्हें जल्द पूरा किया जाए।



Next Story