Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

हरियाणा करेगा खेलो इंडिया यूथ गेम्स- 2021 की मेजबानी

केंद्रीय राज्य मंत्री ने स्पष्ट किया कि कोविड-19 संकट के कारण इस वर्ष 'खेलो इंडिया यूथ गेम्स -2020' का आयोजन नहीं किया जाएगा। इस टूर्नामेंट का अगला संस्करण पंचकूला में आयोजित किया जाएगा। टूर्नामेंट की तारीखों की घोषणा टोक्यो में होने वाले ओलंपिक खेलों के बाद की जाएगी।

हरियाणा करेगा खेलो इंडिया यूथ गेम्स- 2021 की मेजबानी
X

चंडीगढ़। हरियाणा (Haryana) का खेलों में योगदान और खेल क्षमता व दक्षता की सराहना करते हुए केंद्रीय खेल और युवा मामले राज्य मंत्री किरेन रिजीजू (Union Sports Minister Kiren Rijiju) ने 'खेलो इंडिया यूथ गेम्स -2021' के चौथे संस्करण का आयोजन पंचकूला में करने की घोषणा की। यह घोषणा केंद्रीय खेल और युवा मामले राज्य मंत्री ने हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल के साथ डिजिटल माध्यम से बातचीत करने के दौरान की। इस मौके पर प्रदेश के खेल एवं युवा मामलों के राज्य मंत्री संदीप सिंह और खेल मंत्रालय के अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी मौजूद थे।

केंद्रीय राज्य मंत्री ने स्पष्ट किया कि कोविड-19 संकट के कारण इस वर्ष 'खेलो इंडिया यूथ गेम्स -2020' का आयोजन नहीं किया जाएगा। इस टूर्नामेंट का अगला संस्करण पंचकूला में आयोजित किया जाएगा। टूर्नामेंट की तारीखों की घोषणा टोक्यो में होने वाले ओलंपिक खेलों के बाद की जाएगी। मुख्यमंत्री मनोहर लाल के नेतृत्व में राज्य सरकार के प्रयासों की सराहना करते हुए केंद्रीय राज्य मंत्री ने कहा कि मुझे गर्व है कि खेलो इंडिया यूथ गेम्स -2021' के अगले संस्करण का आयोजन पंचकूला में किया जाएगा। हरियाणा हमेशा से देश में एक अग्रणी स्पोट्र्स हब के रूप में उभरा है और मनोहर लाल के कुशल नेतृत्व में राज्य ने राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर अपनी पहचान बनाई है।

किरेन रिजीजू ने कहा कि मनोहर लाल द्वारा संदीप सिंह जैसे प्रसिद्ध खिलाड़ी को खेल मंत्री बनाना राज्य में खेलों को बढ़ावा देने और युवाओं को खेलों में उत्कृष्टता प्राप्त करने के लिए प्रोत्साहित करने की उनकी प्रतिबद्धता को दर्शाता है। मुझे यकीन है कि 'खेलो इंडिया यूथ गेम्स -2021' का आयोजन हरियाणा के लिए एक बड़ी सफलता होगी।

अगले वर्ष होने वाले 'खेलो इंडिया यूथ गेम्स -2021' चौथे संस्करण की मेजबानी हेतु हरियाणा को चुनने के लिए मुख्यमंत्री ने केंद्रीय राज्य मंत्री का आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि राज्य में लागू खेल नीति देश में सबसे अच्छी है, जिसके तहत खिलाडिय़ों को नकद प्रोत्साहन राशि और नौकरियों में आरक्षण जैसी अनेक सुविधाएं प्राप्त हैं।

उन्होंने कहा कि यह बहुत गर्व की बात है कि 'खेलो इंडिया यूथ गेम्स -2018' में हरियाणा ने पहला स्थान हासिल किया था और गुवाहाटी में आयोजित पिछले आयोजन में भी राज्य ने 200 पदक जीतकर दूसरा स्थान हासिल किया था। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारे खिलाड़ी केवल पदक के लिए नहीं बल्कि राज्य और देश की मिट्टी के गौरव के लिए खेलते हैं।

मुख्यमंत्री ने केंद्रीय राज्य मंत्री किरेन रिजीजू को आश्वस्त किया कि पंचकूला 'खेलो इंडिया यूथ गेम्स -2021' की मेजबानी के लिए उपयुक्त है। हरियाणा विभिन्न खेलों के आयोजन के लिए आवश्यक मापदंडों के साथ खेल के बुनियादी ढांचे और उपकरणों सहित उचित व्यवस्था सुनिश्चित करने में कोई कसर नहीं छोड़ेगा। देश भर से भाग लेने वाले खिलाडिय़ों को पर्याप्त आवासीय और अन्य सुविधाएं प्रदान की जाएंगी।

इस अवसर पर बोलते हुए संदीप सिंह ने कहा कि हरियाणा देश के लिए अधिक से अधिक पदक जीतने में हमेशा अग्रणी रहा है और अब जब राज्य खेलो इंडिया गेम्स जैसे बड़े टूर्नामेंट की मेजबानी करेगा, तो यह निश्चित रूप से खिलाड़ियों को उनकी प्रतिभा का प्रदर्शन करने के लिए प्रोत्साहित करेगा। उन्होंने कहा कि हरियाणा ने हमेशा पदक जीतने वाले खिलाड़ी पैदा किए हैं और पिछले ओलंपिक में पदक जीतने वाले दो पहलवानों में से एक पहलवान हरियाणा से ही था।

और पढ़ें
Next Story