Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

आकाशीय बिजली से दो भाइयों समेत तीन की मौत, फसल की कर रहे थे रखवाली

ज़िले के डूमरकोना में मिर्ची खेत में फसल की रखवाली करने के दौरान आकाशीय बिजली की चपेट में आने से सोमवार दोपहर को एक किशोर समेत तीन की मौत हो गई। खेत में बुवाई कर रहे चार अन्य लोग झुलस गए हैं, जिन्हे इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। घटना दोपहर तीन बजे के आसपास की बताई जा रही है।

आसमान से आई आफत, 2 क्रिकेटर की हुई मौत
X
आकाशीय बिजली

जशपुर. ज़िले के डूमरकोना में मिर्ची खेत में फसल की रखवाली करने के दौरान आकाशीय बिजली की चपेट में आने से सोमवार दोपहर को एक किशोर समेत तीन की मौत हो गई। खेत में बुवाई कर रहे चार अन्य लोग झुलस गए हैं, जिन्हे इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। घटना दोपहर तीन बजे के आसपास की बताई जा रही है।

जानकारी के अनुसार जिले के सन्ना से क़रीब 10 किमी दूर ग्राम दूभरकोना में दो सगे भाई प्रदीप, कपेंद्र, नंदलाल आदि अपने मिर्ची लगे खेतों की रखवाली कर रहे थे। दोपहर लगभग 2. 30 बजे अचानक तेज हवा व गर्जना के साथ बारिश शुरू हो गई। जिससे ये तीनों सहित आसपास के खेतों में काम कर रहे लोग इधर उधर छुपने के लिए भागे। ये तीनों में खेत के पास बनी बांस व घास फूस की झोपड़ी में आ गए। इसी समय तेज चमक के साथ आकाशीय बिजली झोपड़ी पर गिरी और धू धूकर जलने लगी। उसके अंदर मौजूद दो सगे भाई प्रदीप उम्र 16 वर्ष, उपेंद्र उम्र 20 वर्ष के साथ नंदलाल उम्र 18 वर्ष की मौके पर ही मौत हो गई। बताया जा रहा है कि चार अन्य लोग भी गाज की चपेट में आने से झुलसा गए हैं। झुलसे लोगों का इलाज सन्ना व छिछली के अस्पताल में किया जा रहा है।

रायगढ़ में गाज से चार झुलसे

रायगढ़ जिले मुख्यालय से लगे ग्राम भेलवाटिकरा में सोमवार को शाम पांच बजे गाज की चपेट में आने से चार लोग झुलसे गए हैं। घायलों को संजीवनी एक्सप्रेस की मदद से इलाज के लिए जिला चिकित्सालय भेजा गया है। इनमें से एक महिला की हालत गंभीर बताई जा रही है। बताया जा रहा है कि भेलवाटिकरा में ईंट भट‍्टे में काम करने वाले वहां पर झोपड़ी बनाकर रखते हैं।

तेज बारिश और ओले से सब्जी की खेती तबाह

नवागढ़। नगर पंचायत का शहरी क्षेत्र एवं आसपास के अंचल में सोमवार को लगभग आधे घंटे तक ओले के साथ बारिश हुई। तेज पानी की बौझारों के साथ ओले गिरने से अंचल में लगी सब्जी की खेती को भारी नुकसान होने की संभावना है। इसके अलावा शाम को बादल गरते रहे और तेज हवा भी चलती रही। इस ओलावृष्टि से सब्जी की खेती करने वाले किसानों के सामने चिंता की स्थिति बनी हुई है। बेमौसम बारिश और ओले गिरने से आम लोगों के स्वास्थ्य पर विपरित प्रभाव पड़ सकता है। वैसे भी जिले में कोरोना संक्रमण का प्रभाव अधिक है, इस बारिश से लोगों में संक्रमण बढ़ने की संभावना बढ़ गई है।

जांजगीर-चांपा और कोरिया में गिरे ओले

जांजगीर चांपा जिले के ग्राम महंत सहित अन्य इलाकों में दोपहर को जमकर बारिश हुई। इस दौरान बड़े- बड़े ओले भी गिरे, जिससे लोगों को राहत मिली। इसके अलावा कोरिया जिले के सोनहत इलाके में भी दोपहर तीन बजे के आसपास तेज हवा के साथ ओलावृष्टि हुई। बैकुंठपुर में सुबह से छाए बादल अपरान्ह तीन बजे बरस पड़े, जिससे तापमान में 4 से 5 डिग्री की गिरावट दर्ज की गई, जिससे गर्मी से लोगों को थोड़ी मिली है।

Next Story