Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

विद्युत नगरी में कम नहीं हो रही बिजल गुल की समस्या, विभाग के अफसर दे रहे हैं घुमा फिराकर जवाब

शहर के पावर हाउस रोड स्थित प्लांट में तकनीकी खराबी आने से 7 दिनों तक फिर से बत्ती गुल होने का अनुमान है, शिकायतों का नहीं हो रहा है निवारण। पढ़िए पूरी खबर..

विद्युत नगरी में कम नहीं हो रही बिजल गुल की समस्या, विभाग के अफसर दे रहे हैं घुमा फिराकर जवाब
X

कोरबा। प्रदेश की विद्युत नगरी में इन दिनों हो रही बिजली गुल को लेकर लोगों में नाराजगी है। ट्रांशमिशन का हवाला देकर अधिकारी बचते नजर आ रहे हैं। लोग कुछ भी कहें इससे अधिकारियों को कुछ भी फर्क नहीं पड़ रहा है। पिछले कुछ महीनों से बिजली की निरंतर शिकायत दर्ज की जा रही है।

पावर हाउस रोड स्थित तट्रांसफार्मर के सबस्टेशन में 40 एमबीए क्षमता वाला दो ट्रांसफार्मर लगा हुआ है। एक नंबर ट्रांसफार्मर में सोमवार की सुबह 5.45 बजे अंदरूनी तकनीकी खराबी आई। इसके साथ ही ट्रांसफार्मर बंद हो गया। तकनीकी जानकारों का कहना है कि ट्रांसफार्मर में बुखोल्ज रिले हो गया है, यानी अंदर का कोई सामान खराब होने पर उसे नहीं चलाया जा सकता। जानकारी मिलने पर ट्रांसमिशन कंपनी के तकनीकी कर्मियों द्वारा ट्रांसफार्मर को खोल कर प्रत्येक उपकरण का परीक्षण किया जा रहा है। देर रात तक पूरी तरह से खराबी नहीं मिल सकी, पर अंदर लगे बुसिंग में क्रेक होने की संभावना व्यक्त की जा रही है।

मंगलवार को ट्रांसफार्मर में भरा तेल खाली कर बुकिंग सिस्टम को देखा जाएगा, इसमें खराबी होने पर तीन दिन के अंदर सुधार कार्य पूरा कर लिए जाने की संभावना व्यक्त की जा रही है, अन्यथा आठ से दस दिन का वक्त लगने की संभावना जताई जा रही है। एक ट्रांसफार्मर बंद होने पर तकनीकी अमले ने बिजली आपूर्ति बहाल करने दूसरे ट्रांसफार्मर पर पूरा लोड डाल दिया है। इससे फिलहाल शहर में बिजली सप्लाई शुरू हो गई, पर ट्रांसफार्मर में ज्यादा लोड न पड़े, इसलिए चरणबद्ध ढंग से एक- एक घंटा बंद बिजली बंद रखने का भी निर्णय लिया गया है। हालांकि वितरण विभाग के अधिकारियों ने उत्पादन कंपनी के एक अतिरिक्त ट्रांसफार्मर से कनेक्शन जोड़ने का प्रयास भी शुरू किया है, ताकि शहरवासियों को निर्बाध रूप से बिजली सप्लाई की जा सके।

Next Story