Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

ठंडी हवाओं के असर से ठिठुरी राजधानी, रात में पारा नीचे सुबह के वक्त कोहरा

पिछले दस साल में वर्ष 2014 के बाद 9.2 डिग्री तक गिरा पारा, दो दिन राहत की संभावना, बनी रहेगी शीतलहर जैसी स्थिति, अंधेरा होने के बाद शहर के इलाकों में अलाव जलने लगे हैं। अगले दो दिन तक ठंड का असर कम होने की संभावना नहीं है। पढ़िए पूरी ख़बर...

ठंडी हवाओं के असर से ठिठुरी राजधानी, रात में पारा नीचे सुबह के वक्त कोहरा
X

रायपुर: ठंडी और शुष्क हवाओं के असर से राजधानी रायपुर भी ठिठुरने लगा है। अंधेरा होने के बाद शहर के कई स्थानों में अलाव जलने लगे हैं। रात के वक्त कड़ाके की ठंड के बाद सुबह शहर में धुंध अपना असर काफी देर तक दिखा रहा है।मौसम विज्ञान केंद्र के मुताबिक रायपुर में शीतलहर की स्थिति काफी कम अवसर पर बनती है। पिछले दो दिन से रायपुर में शीतलहर के हालात बने हुए हैं। रात में कड़ाके की ठंड के साथ सुबह के वक्त छाने वाले कोहरे की वजह से सड़कों पर वाहनों की रफ्तार काफी धीमी रहती है। ठंड का प्रभाव जगदलपुर समेत बस्तर में होने लगा है और वहां भी तापमान में काफी गिरावट दर्ज की गई है।

अगले दो दिन तक ठंड का असर कम होने की संभावना नहीं

मौसम विशेषज्ञों के मुताबिक अगले दो दिनों तक ठंड के असर में कमी आने की संभावना नहीं है। रायपुर समेत पूरे प्रदेश में शीतलहर जैसी स्थिति बनी रहेगी और सरगुजा संभाग में शीत दिवस जैसे हालात बने रहेंगे। रायपुर में पिछले दो दिनों से जोरदार ठंड पड़ रही है और शीतलहर के हालात बने हुए हैं। रात का पारा सामान्य से चार डिग्री नीचे होने के साथ दिन में भी ठंडी हवाओं की वजह से लोगों को गर्म कपड़ों का सहारा लेना पड़ रहा है। मौसम विज्ञान केंद्र के मुताबिक रायपुर में शीतलहर की स्थिति काफी कम अवसर पर बनती है। पिछले दो दिन से रायपुर में शीतलहर के हालात बने हुए हैं। रात में कड़ाके की ठंड के साथ सुबह के वक्त छाने वाले कोहरे की वजह से सड़कों पर वाहनों की रफ्तार काफी धीमी रहती है। ठंड का प्रभाव जगदलपुर समेत बस्तर में होने लगा है और वहां भी तापमान में काफी गिरावट दर्ज की गई है।

शुक्रवार को राहत

मौसम विशेषज्ञों के मुताबिक पश्चमी विक्षोभ आने की वजह से शुक्रवार से हवा की दिशा बदलने की संभावना है। इसके असर से तापमान में गिरावट का दौर थम जाएगा जिसके ठंड से राहत मिलेगी। विक्षोभ का असर खत्म होने के बाद पुन: उत्तर से हवा आने के कारण ठंड का प्रभाव बढ़ने लगेगा।

जशपुर में तापमान 3.5 डिग्री

प्रदेश के उत्तरी इलाके में 'कोल्ड वे' की स्थिति बनी हुई है। जशपुर जिले के डूमरबहार में सोम-मंगल की दरम्यानी रात न्यूनतम तापमान 3.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है। वहीं पेंड्रा को छोड़कर सरगुजा संभाग में रात का तापमान पांच डिग्री से नीचे रिकार्ड किया गया है।


Next Story