Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस विशेष : देश भर में ऐसे मनाया जा रहा योग दिवस, देखिये तस्वीरें

इस साल की योग दिवस की थीम 'घर पर योग और परिवार के साथ योग' । पढ़िए पूरी खबर-

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस विशेष : देश भर में ऐसे मनाया जा रहा योग दिवस,  देखिये तस्वीरें
X

रायपुर। वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के संक्रमण काल के बीच आज (रविवार) को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाया जा रहा है। सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए बिना लोगों के बड़े जमावड़े के डिजिटल मीडिया मंचों पर मनाया जा रहा है। योग दिवस दुनिया भर में पहली बार 21 जून 2015 को मनाया गया और तभी से हर वर्ष उस दिन को योग दिवस के तौर पर मनाया जाता है लेकिन यह पहला मौका होगा जब इसे डिजिटल तरीके से मनाया जाएगा। इस साल की योग दिवस की थीम 'घर पर योग और परिवार के साथ योग' है और लोग 21 जून को सुबह सात बजे डिजिटल समारोह में शामिल हो पाएंगे।

इस अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संदेश दिया। उन्होंने कहा कि योग से इम्युनिटी बढ़ाने में मदद मिलेगी। पीएम नरेंद्र मोदी ने रविवार को कहा कि योग एकता की एक शक्ति के रूप में उभरा है और यह नस्ल, रंग, लिंग, धर्म और राष्ट्रों के आधार पर भेदभाव नहीं करता है। छठे अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर अपने संदेश में उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस वैश्विक महामारी के कारण दुनिया को योग की आवश्यकता पहले के मुकाबले कहीं अधिक महसूस हो रही है। उन्होंने कहा कि अगर हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत है तो इससे इस बीमारी को हराने में काफी मदद मिलेगी। रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए योग में कई तकनीक, विभिन्न आसन हैं। पीएम मोदी ने कहा कि कोविड-19 हमारे श्वसन तंत्र पर हमला करता है जो प्राणायाम या सांस लेने संबंधी अभ्यास से मजबूत होता है।



अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के मौके पर लद्दाख में 18 हजार फीट की ऊंचाई पर आईटीबीपी के जवानों ने योग और प्राणायाम किया। लद्दाख में बर्फ से ढकी सफेद जमीन पर आईटीबीपी जवानों के एक दल ने अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के मौके पर योग अभ्यास किया। लद्दाख में जिस जगह पर इन जवानों ने योग किया वहां तापमान जीरो डिग्री से नीचे है। बर्फ की सफेद चादर पर जवानों का योग अभ्यास बेहद मनोरम दृश्य प्रस्तुत कर रहा था।



छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर रायपुर स्थित अपने निवास में प्रातः योग की विभिन्न मुद्राओं का अभ्यास किया। इस अवसर पर उन्होंने प्रदेशवासियों को योग दिवस की बधाई और शुभकामनाएं देते हुए योग को अपनी दिनचर्या में शामिल करने की अपील की है।

मुख्यमंत्री ने अपने संदेश में कहा कि योग भारत की बहुत प्राचीन परंपरा में से एक है, जिसे हम अष्टांग योग के रूप में भी जानते है। यम, नियम, आसन, प्राणायाम, प्रत्याहार, धारणा, ध्यान और समाधि ये आठ हिस्से अष्टांग योग के है। आसन इन सबका जोड़ है लेकिन यम और नियम पर विशेष जोर देने की आवश्यकता है, तभी अष्टांग योग का लाभ जीवन में मिल सकता है। मैं सभी साथियों से निवेदन और आग्रह करना चाहता हुँ कि योग को अपने जीवन का हिस्सा बनाएं। कुछ समय अपने लिए निकाले, जिसमें आप यम, नियम, आसन और प्राणायाम का पालन करें।



इस मौके पर मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी योग किया इस दौरान उन्होंने कहा कि- 'आज विश्व योग दिवस है। इस बार की थीम माननीय प्रधानमंत्री जी ने दी है ,घर पर योग परिवार के साथ योग । मैंने इसका पालन करते हुए घर पर परिवार के साथ योग किया है। योग निरोग रहने का स्वस्थ रहने का सबसे प्रभावी माध्यम है। यह वह विधा है जो वर्षों के अनुसंधान के बाद हमारे महाऋषियों ने, योग गुरुओं ने हमें ही नहीं विश्व को दी है। आज प्रसन्नता का विषय है कि सारी दुनिया योग की तरफ निरोग रहने के लिए आ रही है .ऐसे में हम अपने देश को स्वस्थ रखने के लिए निरोग रखने के लिए सिर्फ एक दिन नहीं नित्य योग करें .प्रतिदिन योग करें।'

उन्होंने कहा- 'यम, नियम, आसन, प्राणायाम, प्रत्याहार, ध्यान ,धारणा, समाधि अष्टांग योग के अलग-अलग चरण हैं, लेकिन हम कम से कम यम नियम, आसन और प्राणायाम के योग जरूर करें।अपने जीवन में योग से आप अद्भुत परिवर्तन का अनुभव करेंगे। आप शक्ति से और ऊर्जा से, सकारात्मकता से भर जाएंगे। आज संकल्प लें कि सिर्फ एक दिन नहीं बल्कि प्रतिदिन योग करेंगे।'



इसके अलावा छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री रमण सिंह और नेता प्रतिपक्ष धरम लाल कौशिक ने भी योग अभ्यास किया। वहीं भाजपा कार्यालय एकात्म परिसर में योग दिवस के मौके पर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णु देव साय के अलावा संगठन महामंत्री पवन साय, बृज मोहन अग्रवाल, राजीव अग्रवाल, सचिदानंद उपासने, संजय श्रीवास्तव, छगन मूंदड़ा व अन्य वरिष्ठ जन मौजूद रहे।






Next Story