Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

आंगनबाड़ीकर्मी को कैंसर, संघ ने समाज और सरकार से लगाई मदद की गुहार

2 सालों से कैंसर से पीड़ित है। घर की गरीबी हालत उसे बेहतर उपचार की इजाज़त नही दे रही है, लेकिन इसके बावजूद वह कैंसर से मुक्त होकर स्वस्थ ज़िंदगी जीने के लिए अपने स्तर पर प्रयास करती रही। पढ़िए पूरी ख़बर-

आंगनबाड़ीकर्मी को कैंसर, संघ ने समाज और सरकार से लगाई मदद की गुहार
X

राजनांदगांव। गरीबी और बीमारी के कारण बेबस एक आंगनबाड़ी कार्यकर्ता काफी जद्दोजहद के बाद उपचार के लिए राजधानी के बालको मेडिकल सेंटर तक पहुंच गई है, लेकिन फिलहाल वह टेस्ट कराने मात्र की स्थिति में है, उपचार के लिए बंदोबस्त अभी बाकी है। कैंसर से पीड़ित आंगनबाड़ी कार्यकर्ता राजकुमारी मंडावी को सरकार और परोपकारी संस्थाओं की मदद की दरकार अब भी है। दरअसल, राजनांदगांव जिले के छुरिया परियोजना अंतर्गत ग्राम पंचायत लूलीकसा की आंगनबाड़ी कार्यकर्ता गत 2 सालों से कैंसर से पीड़ित है। घर की गरीबी हालत राजकुमारी के बेहतर उपचार की इजाज़त नही दे रही है, लेकिन इसके बावजूद वह कैंसर से मुक्त होकर स्वस्थ ज़िंदगी जीने के लिए अपने स्तर पर प्रयास करती रही।

लता तिवारी, अध्यक्ष, छत्तीसगढ़ जुझारू आंगनबाड़ी कार्यकर्ता सहायिका कल्याण संघ, राजनांदगांव

इसी बीच छत्तीसगढ़ जुझारू आंगनबाड़ी कार्यकर्ता सहायिका कल्याण संघ की राजनांदगांव जिला अध्यक्ष लता तिवारी को राजकुमारी मंडावी के गंभीर रूप से बीमार होने और गरीबी के कारण उपचार न करा पाने की सूचना परियोजना की अध्यक्ष संध्या टांडेकर ने दी। सूचना मिलते ही लता तिवारी ने इसकी जानकारी क्षेत्रीय विधायक छन्नी साहू को दो। विधायक के सहयोग से राजकुमारी मंडावी को राजधानी स्थित बालको मेडिकल सेंटर लाया गया। इस अस्पताल में पिछले 2-3 दिनों से लगातार जांच जारी है। डॉक्टर्स ने सोमवार की जांच रिपोर्ट के बाद उपचार का अनुमानित खर्च बताने की बात कही है। राजकुमारी मंडावी की जान बचाने के लिए जी-जान से जुटी लता तिवारी ने बताया कि जन सहयोग से कुछ राशि मिली थी, जिससे टेस्ट कराया जा रहा है, लेकिन सर्जरी समेत अन्य चीजों में आने वाले खर्च के लिए फ़िलहाल कोई बंदोबस्त नही है। लता तिवारी कहती हैं कि बालको मेडिकल सेंटर में आयुष्मान कार्ड के जरिये निशुल्क उपचार कराने की भी कोशिश की जाएगी। लेकिन हॉस्पिटल मैनेजमेंट का कहना है कि आयुष्मान कार्ड से राहत देने की एक सीमा है, उसके अतिरिक्त खर्च की राशि मरीज को या उनके परिजनों को वहन करने होंगे। उस अतिरिक्त खर्च का भी बंदोबस्त करने के लिए सामाजिक संस्थाओं, समाजसेवियों, विभागीय अधिकारियों और महिला एवं बाल विकास विभाग से गुहार लगाई गई है। छत्तीसगढ़ जुझारू आंगनवाड़ी कार्यकर्ता सहायिका कल्याण संघ राजनांदगांव की जिला अध्यक्ष लता तिवारी का कहना है कि संघ ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, विभागीय मंत्री अनिला भेड़िया, स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव से गुहार लगाई है कि आंगनबाड़ी कार्यकर्ता राजकुमारी मंडावी के बेहतर उपचार के लिए वे समुचित बंदोबस्त कराएं। इसी तरह से सोशल मीडिया में कंपेनिंग चलाकर राजकुमारी मंडावी की जान बचाने में मदद की अपील की जा रही है।

Next Story