Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Zika Virus : कानपुर के बाद उन्नाव पहुंचा जीका वायरस, शुक्लागंज के युवक में हुई संक्रमण की पुष्टि

कोरोना महामारी (coronavirus) का कहर पूरी तरह थमा नहीं है कि अब जीका वायरस (zika virus) की ने लोगों में दहशत मचाई हुई है। इसी बीच उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के उन्नाव (Unnao) में मंगलवार को देर शाम की नए मरीज की पुष्टि हुई है।

Zika Virus : कानपुर के बाद उन्नाव पहुंचा जीका वायरस, शुक्लागंज के युवक में हुई संक्रमण की पुष्टि
X

कोरोना महामारी (coronavirus) का कहर पूरी तरह थमा नहीं है कि अब जीका वायरस (zika virus) की ने लोगों में दहशत मचाई हुई है। इसी बीच उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के उन्नाव (Unnao) में मंगलवार को देर शाम की नए मरीज की पुष्टि हुई है। शुक्लागंज में रहने वाला एक युवा व्यक्ति ज़ीका वायरस से संक्रमित पाया गया है। जिसके बाद स्वास्थ्य विभाग (Health Department) में हड़कंप मच गया है।

मिली जानकारी के मुताबिक पिछले कई दिनों से मरीज को बुखार आ रहा था। तीन दिन पहले ही उनकी कानपुर में जांच की गयी थी। स्वास्थ्य विभाग (Health Department) के पर्यवेक्षक ने इस वायरस की पुष्टि की है। संक्रमण की पुष्टि होने के बाद स्वास्थ्य विभाग ने मरीज को इलाज के लिए जिला अस्पताल के डेंगू वार्ड में भर्ती कराया है। साथ ही मरीज के घर के आस-पास दवाइयों का छिड़काव भी किया जा रहा हैं।

डीएम ने फोगिंग और दवाई का छिड़काव करने के दिए निर्देश

वही डीएम रविंद्र कुमार (DM Ravindra Kumar) ने कहा कि मुख्य चिकित्सा अधिकारी दूवारा खुलासा किया गया है कि ज़ीका वायरस का एक मामला शुक्लागंज में मिला है। रविंद्र कुमार ने कहा संक्रमित व्यक्ति कानपुर में एक कारखाने में काम करता है। वह प्रतिदिन आना जाना करता था। उन्होंने आगे कहा संक्रमण की जानकारी मिलने के बाद तत्काल उस क्षेत्र में फोगिंग और दवाई का छिड़काव करने के निर्देश दिए गए हैं।

साथ ही जिला में पूर्ण सावधानी बरतने के लिए भी कहा गया है। उन्नाव के शुक्लगंज में रहने वाले राजेश कानपुर के लाल बंगले शहर में एक धागा फक्ट्री में काम करता है। उनको एक हफ्ते पहले आंखों में जलन और बुखार जैसी समस्या हुई थी। जिसके बाद फैक्ट्री प्रबंधन ने राजेश की 13 नवंबर को डेंगू और अन्य जांच कराई। जिसमें राजेश को डॉक्टर ने घर पर आराम करने की सलाह दी।

मुख्यमंत्री योगी ने दिया निर्देश

बात दे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने मंगलवार को बीमार लोगों के परीक्षण, ट्रेसिंग और उनके इलाज पर जोर दिया है। साथी ही उन्होंने आशा कार्यकर्ताओं की मदद से अधिकारियों को मरीजों की तलाश करने का भी निर्देश दिया। वही मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को डेंगू की जांच कर रहे पैथोलॉजी सेंटरों का औचक निरीक्षण करने के भी निर्देश दिए हैं।

Next Story