Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

राजस्थान सरकार ने ब्लैक फंगस को महामारी घोषित किया, राज्य में अब तक 100 से अधिक मरीज हो चुके हैं प्रभावित

राजस्थान सरकार ने म्यूकर माइकोसिस (ब्लैक फंगस) रोग को बुधवार को महामारी घोषित कर दिया है। राज्य के चिकित्सा व स्वास्थ्य विभाग ने इस बारे में अधिसूचना जारी की।

राजस्थान सरकार ने ब्लैक फंगस को महामारी घोषित किया, राज्य में अब तक 100 से अधिक मरीज हो चुके हैं प्रभावित
X

राजस्थान ब्लैक फंगस

जयपुर। राजस्थान में कोरोना वायरस का आतंक अभी पूरी तरह से कम नहीं हुआ था कि अब राज्य पर नई बीमारी का साया आ गया है। राजस्थान में कोरोना वायरस संक्रमण से ठीक होने वाले मरीजों में ब्लैक फंगस के मामले सामने आ रहे हैं। इस नई बीमारी ने प्रदेश सरकार की चिंता और भी ज्यादा बढ़ा दी है। इसलिए राजस्थान सरकार ने म्यूकर माइकोसिस (Black Fungus) रोग को बुधवार को महामारी घोषित कर दिया है। राज्य के चिकित्सा व स्वास्थ्य विभाग ने इस बारे में अधिसूचना जारी की।

प्रमुख शासन सचिव चिकित्सा अखिल अरोरा द्वारा जारी इस अधिसूचना के अनुसार कोरोना वायरस संक्रमण के प्रभाव के कारण म्यूकर माइकोसिस (ब्लैक फंगस) के मरीजों की संख्या में निरंतर वृद्धि, ब्लैक फंगस के कोरोना वायरस संक्रमण के दुष्प्रभाव के रूप में सामने आने, कोविड-19 व ब्लैक फंगस का एकीकृत व समन्वित उपचार किए जाने के मद्देनजर यह कदम उठाया गया है। राजस्थान महामारी अधिनियम 2020 की धारा 3 की सहपठित धारा 4 के तहत म्यूकर माइकोसिस (Black Fungus) को संपूर्ण राज्य में महामारी व अधिसूचनीय रोग अधिसूचित किया गया है।

किन्हें ज्यादा हो रही यह बीमारी

उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कुछ दिन पहले राजस्थान सहित देश के विभिन्न राज्यों में कोरोना वायरस संक्रमण से ठीक हो चुके मरीजों में म्यूकर माइकोसिस (ब्लैक फंगस) बीमारी के मामले सामने आने को चिंता जताई थी। विशेषज्ञों के अनुसार यह बीमारी कोरोना वायरस से ठीक हुए मधुमेह के रोगियों में अधिक हो रही है। इस बीमारी में पीड़ित की आंखों की रोशनी जाने के साथ ही जबड़े तक को निकालने की नौबत आ रही है। राजस्थान में करीब 100 मरीज ब्लैक फंगस से प्रभावित हैं। इनके उपचार के लिए जयपुर के सवाई मानसिंह अस्पताल में अलग से वार्ड बनाया गया है, जहां पूरे प्रोटोकॉल के अनुसार इलाज किया जा रहा है।

Next Story