Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

गहलोत सरकार का बड़ा निर्णय : 10 बच्चे पढ़‍ने के इच्छुक हुए तो मिलेगा अतिरिक्त शिक्षक, 1339 नए पदों को मंजूरी

राजस्थान के स्कूलों में तृतीय भाषा के लिए कुल 481 शिक्षकों के नए पद बढ़ाए गए हैं। साथ ही अब उत्कृष्ट स्कूलों के लिए 1339 नए पदों को भी मंजूरी दी गई है। अब कक्षा 1 से 8 वीं तक के लिए तृतीय भाषा में जहां भी 10 बच्चे पढ़ने के इच्छुक होंगे। वहां थर्ड ग्रेड के अतिरिक्त शिक्षक भी मिल सकेंगे।

गहलोत सरकार का बड़ा निर्णय : 10 बच्चे पढ़‍ने के इच्छुक हुए तो मिलेगा अतिरिक्त शिक्षक, 1339 नए पदों को मंजूरी
X

10 बच्चे पढ़‍ने के इच्छुक हुए तो मिलेगा अतिरिक्त शिक्षक, 1339 नए पदों को मंजूरी

जयपुर। राजस्थान सरकार ने शनिवार को एक बड़ा निर्णय लेते हुए शिक्षकों के लिए एक बड़ी खबर का ऐलान किया है। राज्य में अब शिक्षकों की कमी नहीं होने वाली है। सरकार ने स्कूलों में तीसरी भाषा को लेकर स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा बड़ा निर्णय लिया है। स्कूलों में तृतीय भाषा के लिए कुल 481 शिक्षकों के नए पद बढ़ाए गए हैं। साथ ही अब उत्कृष्ट स्कूलों के लिए 1339 नए पदों को भी मंजूरी दी गई है। अब कक्षा 1 से 8 वीं तक के लिए तृतीय भाषा में जहां भी 10 बच्चे पढ़ने के इच्छुक होंगे। वहां थर्ड ग्रेड के अतिरिक्त शिक्षक भी मिल सकेंगे।

तीसरी भाषा के शिक्षकों के लिए अपार हुए अवसर

राज्य के किसी भी स्कूल में अब यदि 10 बच्चे भी उर्दू, संस्कृत, सिंधी या पंजाबी भाषा में दिलचस्पी दिखाएंगे तो शिक्षा विभाग वहां थर्ड ग्रेड के अतिरिक्त शिक्षकों की नियुक्ति करेगा। राजस्थान में स्कूल शिक्षा में कई बड़े निर्णयों को लेकर शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की। उन्होंने बताया कि बीते कुछ दिनों में तृतीय भाषा को कमजोर करने की बातें कही जा रही थी। लेकिन अब गहलोत सरकार ने फैसला लिया है कि कक्षा 1 से 8 तक तृतीय भाषा में जहां भी 10 बच्चे पढ़ने के इच्छुक होंगे. भले ही उर्दू या फिर संस्कृत या सिंधी भाषा के हो, वहां पर एक अध्यापक अतिरिक्त दिया जाएगा। शिक्षा मंत्री डोटासरा ने कहा कि उर्दू भाषा में 430 पद बढ़ाए गए है। जबकि सभी भाषाओं के मिलाकर कुल 481 पद बढ़ाए गए है। इसमें पंजाबी और सिंधी भाषा को भी शामिल किया गया है।

Next Story