Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

ACB की बड़ी कार्रवाई, रिश्वतखोरी के मामले में प्रधानाचार्य समेत चार लोगों को किया अरेस्ट

ब्यूरो की टीम ने बीकानेर में एन.एम. कॉलेज ऑफ नर्सिंग के प्रधानाचार्य अनीस अली व लिपिक मनीष बड़गूजर को परिवादी से 10 हजार रुपये की रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया।

ACB की बड़ी कार्रवाई, रिश्वतखोरी के मामले में प्रधानाचार्य समेत चार लोगों को किया अरेस्ट
X

रिश्वत लेता पकड़ा

जयपुर। भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (Anti Corruption Bureau) ने रिश्वतखोरी के अलग-अलग मामलों में शुक्रवार को चार लोगों को गिरफ्तार (Arresting) कर लिया। गिरफ्तार लोगों में बीकानेर (Bikaner) स्थित एक नर्सिंग कॉलेज (Nursing College) का प्रधानाचार्य (Principal) भी शामिल है। ब्यूरो के प्रवक्ता ने यहां बताया कि ब्यूरो की टीम ने बीकानेर में एन.एम. कॉलेज ऑफ नर्सिंग (N.M. College of Nursing) के प्रधानाचार्य अनीस अली व लिपिक मनीष बड़गूजर को परिवादी से 10 हजार रुपये की रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया। परिवादी ने शिकायत दी थी कि आरोपी प्रधानाचार्य व लिपिक छात्रों को प्रैक्टिकल न कराने, मूल दस्तावेज न लौटाने तथा परीक्षा न दिलवाने का दबाव बनाकर प्रत्येक छात्र से 10-10 हजार रुपये की रिश्वत मांग रहे थे।

वहीं, एक अन्य कार्रवाई में अजमेर डिस्कॉम के तकनीकी सहायक (Lineman) महेन्द्र सिंह रावत को 11 हजार रुपये की रिश्वत लेते रंगेहाथ गिरफ्तार किया गया। परिवादी द्वारा शिकायत दी गई थी कि उसकी निर्माणाधीन दुकानों में विद्युत संबंधी कार्य के एवज में आरोपी 12 हजार रुपये की रिश्वत मांग रहा है। इसी तरह भरतपुर (Bharatpur) में राजकीय जनाना अस्पताल (Government Janana Hospital) का कम्प्यूटर ऑपरेटर (Computer Operator) सहदेव पांच हजार रुपये की रिश्वत लेते रंगेहाथ पकड़ा गया। इस मामले में स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉक्टर (gynecologist doctor) सुनील मीणा मौके से फरार हो गया।

आरोप है कि डॉक्टर एक महिला की बच्चेदानी का ऑपरेशन करने के एंवज में Computer Operator के जरिए रिश्वत मांग रहा था। वह ब्यूरो की कार्रवाई की भनक लगने पर मौके से फरार हो गया जिसकी तलाश जारी है।

Next Story