Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

एक्शन मोड में आए सिद्धू, किसानों के समर्थन में सड़कों पर उतरे, केंद्र सरकार पर जमकर साधा निशाना

पंजाब के पूर्व मंत्री नवजोत सिद्धू नए कृषि विधेयक के विरुद्ध एक्शन मोड में नजर आ रहे हैं। कृषि विधेयकों के खिलाफ किसानों के पक्ष में वह मैदान में उतर आए हैं। सोमवार को उन्होंने अमृतसर में सड़क पर उतरकर विरोध प्रदर्शन किया।

एक्शन मोड में आए सिद्धू, किसानों के समर्थन में सड़कों पर उतरे, केंद्र सरकार पर जमकर साधा निशाना
X
नवजोत सिंह सिद्धू

अमृतसर। पंजाब के पूर्व मंत्री नवजोत सिद्धू नए कृषि विधेयक के विरुद्ध एक्शन मोड में नजर आ रहे हैं। कृषि विधेयकों के खिलाफ किसानों के पक्ष में वह मैदान में उतर आए हैं। सोमवार को उन्होंने अमृतसर में सड़क पर उतरकर विरोध प्रदर्शन किया। सिद्धू पुराने और नए शहर को जोड़ने वाले भंडारी पुल पर किसानों का समर्थन करने आए। सैकड़ों की भीड़ में समर्थक भी सिद्धू के साथ दिखी। इस दौरान उन्होंने सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि किसान बिल से जमाखोरी को बढ़ावा मिलेगा। क्या सरकार रोटी को आवश्यक वस्तु नहीं मानती है?

करीब एक साल बाद मैदान में उतरे

प्रदर्शन में सिद्धू ट्रैक्टर पर सवार दिखे। इस जुलूस में कई ट्रैक्टर्स के साथ किसान शामिल हुए। उनके हाथों में तख्तियां थीं और कुछ ने काले झंडे भी लिए हुए थे। सिद्धू करीब एक साल बाद मैदान में उतरे हैं। कैबिनेट मंत्री का पद छोड़ने के बाद उन्होंने एक साल तक 'मौन' धारण कर लिया था। वे कहीं पर दिखाई नहीं दे रहे थे।

किसान बिल पर गरमाया मुद्दा

बता दें कि पंजाब में किसान बिल का मुद्दा बेहद गरमाया हुआ है। इससे पहले शिरोमणी अकाली दल की नेता हरसिमरत कौर बादल ने मोदी कैबिनेट से इस्तीफा दे दिया था। उन्होंने कहा कि सरकार किसानों को विश्वास में लेने में कामयाब नहीं हुई। कुल मिलाकर इस मुद्दे पर सरकार और विपक्ष आमने सामने है। सरकार दावा कर रही है कि ये कानून किसानों के जीवन में बदलाव लाएगा। उनकी आमदनी में बढ़ोतरी होगी। किसानों को आजादी मिलेगी कि वे अपनी फसल कहीं भी बेच सकेंगे। वहीं विपक्ष का दावा है कि इससे निजी कंपनियां किसानों का शोषण करेंगी।

Next Story