Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

MP में अनुसूचित जाति और बच्चों के खिलाफ अत्याचार के सर्वाधिक मामले, NCRB ने जारी की 2020 की रिपोर्ट

मध्यप्रदेश अनुसूचित जनजाति वर्ग के खिलाफ अत्याचार के मामलों में सबसे उपर है। एनसीआरबी ने 2020 के अपराधों के आंकड़े पेश किए हैं, जिसमें पता चला है कि इसके अलावा बच्चों पर भी एमपी में दूसरे राज्यों की तुलना में बहुत अत्याचार हुआ है। पढ़िए पूरी खबर-

MP में अनुसूचित जाति और बच्चों के खिलाफ अत्याचार के सर्वाधिक मामले, NCRB ने जारी की 2020 की रिपोर्ट
X

भोपाल। नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो (NCRB) ने 2020 के अपराधों के आंकड़े जारी किए हैं, जिसके अनुसार अनुसूचित जनजाति के खिलाफ होने वाले अत्याचार में एमपी पूरे देश में सबसे ऊपर है। आंकड़ों के मुताबिक, एमपी में अनुसूचित जनजाति पर हुए अत्याचार के एमपी में हुए 2401 मामले दर्ज किए गए हैं।

आपको बता दें कि अनुसूचित जनजाति के खिलाफ दर्ज होने वाले अपराधों के मामलों में पिछले 3 साल से एमपी सबसे ऊपर है। बच्चों के साथ होने वाले अपराधों में भी एमपी सबसे ऊपर है। 2020 में बच्चों के साथ होने वाले अपराधों की संख्या 17008 दर्ज की गई है। पिछले साल भी एमपी बच्चों के साथ वाले अपराधों के मामलों में सबसे ऊपर था। महिला अपराधों के मामलों में एमपी पांचवे स्थान पर है। 2020 में एमपी में महिलाओं के खिलाफ हुए अपराध के 25640 मामले दर्ज किए गए हैं।

Next Story