Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

सोलन में दुकानदार और सफाई कर्मियों के बीच खूनी संघर्ष, 6 घायल

हिमाचल प्रदेश के सोलन जिले में नालागढ़ के बर्फानी चौक के पास एक दुकानदार व सफाई कर्मी के बीच कूड़े को लेकर विवाद हो गया। इस वजह से खूनी झड़प हो गई। दुकानदार अपनी दुकान खोल रहा था और सफाई कर्मी कूड़ा उठाने के लिए आया था।

पत्नी से छेड़छाड़ करने पर पीड़ित ने किया कमरा खाली, मालिक ने बंधक बनाकर पीटा
X
घायल व्यक्ति (प्रतीकात्मक फोटो)

हिमाचल प्रदेश के सोलन जिले में नालागढ़ के बर्फानी चौक के पास एक दुकानदार व सफाई कर्मी के बीच कूड़े को लेकर विवाद हो गया। इस वजह से खूनी झड़प हो गई। दुकानदार अपनी दुकान खोल रहा था और सफाई कर्मी कूड़ा उठाने के लिए आया था।कूड़े को लेकर दोनों में झगड़ा शुरू हो गया। झगड़ा इतना बढ़ गया कि सफाई कर्मी ने अपने रिश्तेदारों को मौके पर बुला लिया और दुकानदार के पक्ष में भी लोग मौके पर पहुंच गए। दोनों गुटों में पहले जमकर लड़ाई झगड़ा हुआ और उसके बाद एक तरफ से पत्थरबाजी दूसरी तरफ से डंडों व तेजधार हथियार से भी हमला कर दिया गया। हमले में सफाई कर्मियों के करीबन आधा दर्जन लोग घायल हो गए हैं, जिन्हें इलाज के लिए नालागढ़ के सिविल अस्पताल में भर्ती करवाया गया है।

सफाई कर्मियों के लोगों पर तेजधार हथियारों से हमले के बाद सफाई कर्मियों में खासा रोष देखा जा रहा था। सफाई कर्मियों का जहां बर्फानी चौक पर हमले के विरोध में हंगामा शुरू हुआ और उसके बाद बर्फानी चौक पर गाड़ियों से उतारकर गंदगी के ढेर लगा दिए गए। करीबन 2 घंटे तक सफाई कर्मियों द्वारा जमकर हंगामा किया गया। इसी बीच में बर्फानी चौक पर सैकड़ों लोग एकत्रित हो गए और सोशल डिस्टेंसिंग का भी मजाक बनता हुआ दिखाई दिया।

सूचना मिलते ही पुलिस थाना नालागढ़ से पुलिस की टीम के साथ तहसीलदार ऋषभ शर्मा भी मौके पर पहुंचे। प्रशासनिक अधिकारियों के समझाने के बाद हंगामा कर रहे लोगों को शांत करवाया गया और उन्हें कार्रवाई का भी आश्वासन दिया गया। फिलहाल पुलिस ने मौके का जायजा लेकर मामले की जांच शुरू कर दी है और सभी घायलों का नालागढ़ के सिविल अस्पताल में इलाज करवाया जा रहा है।

पीड़ित सफाई कर्मचारी का कहना है कि वह हर रोज की तरह सफाई करने के लिए बाजार आया था और जैसे ही वह दुकानदार के पास पहुंचा तो उसने उसे अपनी दुकान के अंदर से सफाई करने को बोला। सफाई कर्मचारी ने मना किया और तो दुकानदार के बीच बहस शुरू हो गई और पीड़ित ने दुकानदार पर थप्पड़ मारने का आरोप लगाते हुए कहा कि जब उसने अपने माता-पिता को बुलाया तो दुकानदार ने उसके माता-पिता पर भी तेजधार हथियारों से हमला शुरू कर दिया फिलहाल पीड़ित द्वारा पुलिस व प्रशासन से इंसाफ की गुहार लगाई गई है।

आरोपी दुकानदार से बात की तो उसने कहा कि वह हर रोज की तरह 9:00 बजे अपनी दुकान खोल रहा था। इसी बीच दो सफाई कर्मचारी स्कूटी पर सवार होकर आए और उसने एक लड़की को टक्कर मार दी तो जब उसने रोकने की कोशिश की लेकिन दुकानदार ने कहा कि उन्होंने गली गलोच और लड़ाई-झगड़ा शुरू कर दिया गया और मौके पर 30-40 लोगों ने आकर उसकी दुकान पर हमला कर दिया और इसी दौरान उसकी दुकान में रखे 25000 और उसकी सोने की चैन भी गायब हो गई। दुकानदार ने कहा कि उसकी दुकान पर हमला किया गया है और उनके खिलाफ कार्रवाई की जाए।

नालागढ़ के तहसीलदार ऋषभ शर्मा से जब हमने बात की तो उन्होंने कहा कि दुकानदार व सफाई कर्मियों के बीच कूड़े को लेकर विवाद हो गया था और उन्होंने व पुलिस द्वारा मौके पर पहुंचकर लोगों को शांत करवाया गया है। उन्होंने कहा कि पुलिस मामले की जांच कर रही है और दोनों पार्टियों को आमने-सामने बिठा कर समझौते की भी कोशिश की जा रही है।

और पढ़ें
Next Story