Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Unlock 4.0: हिमाचल में 9वीं से 12वीं कक्षा तक स्कूलों को खोलने पर विचार

केंद्र सरकार की ओर से अनलॉक अनलॉक 4.0 के चौथे चरण लेकर जो गाइडलाइंस जारी की गई है। इन गाइडलाइंस में भी यह कहा गया है कि 21 सितंबर से नौवीं कक्षा से लेकर 12 वीं कक्षा तक के छात्र शिक्षकों से मार्गदर्शन लेने के अभिभावकों की सहमति से स्कूल आ सकते हैं।

Unlock 4.0: हिमाचल में 9वीं से 12वीं कक्षा तक स्कूलों को खोलने पर विचार
X
फाइल फोटो

केंद्र सरकार की ओर से अनलॉक अनलॉक 4.0 के चौथे चरण लेकर जो गाइडलाइंस जारी की गई है। इन गाइडलाइंस में भी यह कहा गया है कि 21 सितंबर से नौवीं कक्षा से लेकर 12 वीं कक्षा तक के छात्र शिक्षकों से मार्गदर्शन लेने के अभिभावकों की सहमति से स्कूल आ सकते हैं।कोरोना की वजह से प्रदेश में स्कूल बंद है।

ऐसे में अब अनलॉक के चौथे चरण में छात्रों को यह अवसर दिया जा रहा है कि अगर वह पढ़ाई को लेकर कोई भी मार्गदर्शन अपने शिक्षकों से लेना चाहते हैं तो वह स्कूल जा सकते है। अब इस गाइडलाइन को लेकर प्रदेश सरकार जो फैसला लेगी, विभाग उसी के तहत कार्य करेगा. लेकिन यह स्पष्ट है कि अब अभिभावक हो या छात्र, वह घर पर रहकर पढ़ाई करने को प्राथमिकता न देकर स्कूल जा कर शिक्षा ग्रहण करना चाहते हैं।

अगर प्रदेश सरकार शिक्षा विभाग को स्कूल खोलने की अनुमति देती है तो विभाग स्कूलों को अनलॉक 4.0 में खोलने के लिए पूरी तरह से तैयार है। प्रदेश में अभिभावक जहां अपने बच्चों को स्कूल भेजने के लिए तैयार है तो वहीं छात्र स्कूल आना भी चाह रहे है। यही वजह से है कि अगर प्रदेश सरकार अनलॉक के चौथे चरण में कंटेनमेंट जोन से बाहर के स्कूलों को खोलने की अनुमति देती है तो प्रदेश में नौवीं कक्षा से लेकर 12 वीं कक्षा तक के छात्रों को स्कूलों में बुलाया जा सकता है। ऐसा कहना है हिमाचल उच्च शिक्षा विभाग के निदेशक का।

उच्च शिक्षा विभाग के निदेशक का दावा है कि हिमाचल प्रदेश में नौवीं से 12वीं कक्षा में पढ़ रहे बच्चों को अभिभावक स्कूल भेजना चाह रहे हैं। छात्र भी स्कूल आना चाह रहे है तो अगर 50 फ़ीसदी छात्रों को बुला कर स्कूलों को खोला जा सकता है। शिक्षा निदेशक डॉ. अमरजीत शर्मा ने कहा कि बहुत से अभिभावक और शिक्षक हमें फोन कर रहे हैं, जो बड़ी कक्षाओं के बच्चों को स्कूल भेजना चाह रहे हैं। उन्हें इस बात का आश्वासन देने की जरूरत है की स्कूलों में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने के साथ ही एसओपी के सभी नियमों का पालन किया जाएगा।

Next Story