Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

नाबालिग से रेप के आरोपी को अदालत ने सुनाई 10 साल की सजा

हिमाचल के कांगड़ा में 15 साल की नाबालिग से रेप के बाद अश्लील वीडियो बनाकर शोशल मीडिया पर वायरल करने के आरोपी को अदालत ने दोषी करार दिया। अदालत ने आरोपी को 10 साल कठोर कारावास और 20 हजार रुपये के जुर्माने की सजा सुनाई है।

नाबालिग से रेप के आरोपी को अदालत ने सुनाई 10 साल की सजा
X

प्रतीकात्मक तस्वीर

हिमाचल के कांगड़ा में 15 साल की नाबालिग से रेप के बाद अश्लील वीडियो बनाकर शोशल मीडिया पर वायरल करने के आरोपी को अदालत ने दोषी करार दिया। अदालत ने आरोपी को 10 साल कठोर कारावास और 20 हजार रुपये के जुर्माने की सजा सुनाई है। जुर्माना न देने पर आरोपी को 6 महिने और अधिक जेल में रहना होगा। जानकारों के अनुसार मामला साल 2015 का है जब आरोपी ने नाबालिग से इस वारदात को अंजाम दिया। आरोपी पीड़िता के साथ कई साल तक लगातार रेप करता रहा था। बाद में उसने पीड़िता का विडियों सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया था।

नाबालिग का वीडियो वायरल होने पर पीड़िता के पिता ने आरोपी की खिलाफ शिकायत की थी। मामले में अदालत ने जिसकी तीन साल तक अदालत में ज़िरह हुई और दोनों और के गवाहों के बयानों के आधार पर अब मामले में अब सजा सुनाई है। राजेश वर्मा ने बताया कि पीड़िता ने अपने बयान दर्ज करवाये थे कि मामले का आरोपी ओमी कुमार ने मई 2015 में उसके स्कूल के पास मिला और उसका मोबाइल नंबर ले लिया। इसके बाद जुलाई 2015 को ओमी उसे अपनी बाइक पर बिठाकर त्रिलोकपुर मंदिर की ओर ले गया। मंदिर में जाने के बाद वे उसे वहीं के एक होटल के कमरे में ले गया।

होटल में आरोपी ने नाबालिग के साथ दुष्कर्म किया और वीडियो भी बना ली। वीडियो बनाने के बाद उसे धमकाने लगा कि अगर उसकी ओर से इस बात का खुलासा कहीं किया गया ये बात तो वो इस वीडियो को वायरल कर देगा और जान से भी मार देगा। डर के मारे उसने ये बात किसी को नहीं बताई। अगस्त 2017 में पीड़िता की पंचायत के प्रधान ने नाबालिग के परिजनों को बताया कि उनकी बेटी की अश्लील वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है, जिस पर उन्होंने केस दर्ज करवाया। जिला न्यायवादी राजेश वर्मा व अतिरिक्त जिला न्यायवादी आरडी चौधरी ने कुल 18 गवाह पेश किए। अदालत ने गवाहों के बयानों के आधार आरोपी ओमी कुमार 10 साल कठोर कारावास व 20 हजार जुर्माने की सजा सुनाई है।


Next Story