Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

आरोपियों ने ऐसा क्या मार दिया ताना, जिस कारण पीड़ित ने निगल लिया जहर

रोहतक के एक निजी अस्पताल में 3 दिन बाद शनिवार को पीडि़त की मौत हो गई। मृतक के भाई के बयान पर दोनों आरोपियों के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने का केस दर्ज कर लिया गया।

आरोपियों ने ऐसा क्या मार दिया ताना, जिस कारण पीड़ित ने निगल लिया जहर
X

हरिभूमि न्यूज. गोहाना। बरोदा थाने के मदीना गांव में समझौता हो जाने के बाद आरोपियों ने जब उसे कुछ न बिगाड़ सकने का ताना मारा तो पीडि़त ने आहत हो कर जहर निगल लिया।

रोहतक के एक निजी अस्पताल में 3 दिन बाद शनिवार को पीडि़त की मौत हो गई। मृतक के भाई के बयान पर दोनों आरोपियों के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने का केस दर्ज कर लिया गया। पुलिस आरोपियों को तलाश रही है।

मदीना गांव के प्रदीप पुत्र सुरेश का कहना है कि उसके भाई जसबीर से गांव के ही विकास पुत्र रणबीर और आकाश उर्फ छोटा ने 10 जनवरी को मारपीट कर दी। 11 जनवरी को दोनों पक्षों के बीच पंचायती तौर से समझौता हो गया।

आरोप है कि 12 जनवरी को जब जसबीर घूमने के लिए गया, आरोपियों ने उसे ताना मारा कि हमारा क्या बिगाड़ लिया। साथ में दोबारा पीटने की धमकी भी दी। जसबीर ने यह बात घर लौट कर अपनी मां और भाई को बताई।

उसी दिन जसबीर ने जहरीली गोलियां फांक लीं। उसे गोहाना के नागरिक अस्पताल में लाया गया। वहां से उसे रोहतक के पी.जी.आई. अस्पताल में रेफर कर दिया गया। वहां के इलाज से असंतुष्टद्द परिजन जसबीर को ले कर रोहतक में ही मैडीकल मोड़ के निजी अस्पताल में पहुंचे।

जिन्दगी और मौत के बीच झूलते हुए 3 दिन बाद शनिवार को जसबीर ने आखिर दम तोड़ दिया। मृतक के भाई प्रदीप के बयान पर पुलिस ने दोनों नामजद आरोपियों-विकास और आकाश के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने का केस दर्ज कर लिया और जांच शुरू कर दी।

Next Story