Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

दूध के ड्राम में प्रतिबंधित नशीली गोलियों को छुपा डिलीवरी करने जा रहा था, जानें फिर क्या हुआ

सीआईए स्टाफ (CIA Staff) ने गांव आफताबगढ़ के निकट बाइक सवार व्यक्ति को काबू कर उसके कब्जे से 14 हजार 600 प्रतिबंधित नशीली गोलियां बरामद की है। सदर थाना सफीदों पुलिस ने सीआईए स्टाफ कर्मी की शिकायत पर साहब सिंह के खिलाफ नशीले पदार्थ निरोधक अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया है।

दूध के ड्राम में प्रतिबंधित नशीली गोलियों को छुपा डिलीवरी करने जा रहा था, जानें फिर क्या हुआ
X

हरिभूमि न्यूज : जींद

सीआईए स्टाफ ने गांव आफताबगढ़ के निकट बाइक सवार व्यक्ति को काबू कर उसके कब्जे से 14 हजार 600 प्रतिबंधित नशीली गोलियां बरामद की है। व्यक्ति दूध के ड्राम में गोलियों को छुपा सफीदों डिलीवरी देने जा रहा था। सदर थाना सफीदों पुलिस ने पकड़े गए व्यक्ति के खिलाफ नशीले पदार्थ निरोधक अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया है। पुलिस आरोपित से पूछताछ कर रही है।

सीआईए स्टाफ को सूचना मिली थी कि असंध की तरफ से प्रतिबंधित नशीली दवाओं को सप्लाई करने के लिए सफीदों की तरफ ले जाया जाना है। जिसके आधार पर सीआईए स्टाफ ने गांव आफताबगढ़ के निकट असंध की तरफ से आने वाले वाहनों पर नजर रखनी शुरु कर दी। उसी दौरान पुलिस कर्मियों ने दूध के खाली ड्रामों के साथ बाइक सवार व्यक्ति को रोककर तलाशी ली तो ड्राम में 73 डिब्बे मिले। जिसमे प्रतिबंधित दवा ड्रामाडोल की गोलियां थी। जिनकी संख्या 14 हजार 600 पाई गई। पुलिस पूछताछ में पकड़े गए व्यक्ति की पहचान गांव रोहड़ निवासी साहब सिंह के रूप में हुई।

दो हजार रुपये प्रति राउंड लेता था आरोपित, सफीदों देनी थी डिलीवरी

पुलिस पूछताछ में साहब सिंह ने बताया कि ट्रामाडोल नशीली दवाओं को वह असंध के दारा नाम के व्यक्ति से लेकर आया था। सप्लाई करने के प्रति राउंड उसे दो हजार रुपये दिए जाते थे। किसी को संदेह न हो इसके लिए वह दूध के खाली ड्राम में नशीली गोलियां रखकर सप्लाई करता था। जो गोलियां पकड़ी गई है उन्हें सफीदों में एक व्यक्ति के पास डिलीवर करना था।

सदर थाना सफीदों के जांच अधिकारी सुरेश ने बताया कि सूचना के आधार पर आरोपित व्यक्ति को नशीली प्रतिबंधित गोलियां के साथ पकड़ा है। आरोपित प्रति राउंड दो हजार रुपये डिलीवरी के लेता था। जिन लोगों के नाम सामने आए हैं उनकी धर पकड़ के लिए छापेमारी की जा रही है।

और पढ़ें
Next Story