Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

सरकारी स्कूलों के लाखों विद्यार्थियों को टैब का तोहफा जल्द

टैब फिलहाल 8वीं से लेकर 12 वीं तक के विद्यार्थियों को लाइब्रेरी सिस्टम (Library system) की तरह से तीन साल के लिए प्रदान किए जाएंगे। जिसके बाद में इनका प्रयाेग नए आने वाले बच्चे कर सकेंगे।

सरकारी स्कूलों के लाखों विद्यार्थियों को टैब का तोहफा जल्द
X

योगेंद्र शर्मा. चंडीगढ़

हरियाणा सरकार सरकारी स्कूलों के दलित, पिछड़ों व गरीब बच्चों को जल्द ही टैब प्रदान करने जा रहा है ताकि वे घर बैठकर भी आनलाइन क्लासों में हाजिर रह सकें। विभाग के आला-अफसरों ने इस काम के लिए टेंडर प्रक्रिया जारी कर दी है। टैब फिलहाल 8वीं से लेकर 12 वीं तक के विद्यार्थियों को लाइब्रेरी सिस्टम की तरह से तीन साल के लिए प्रदान किए जाएंगे। जिसके बाद में इनका प्रयाेग नए आने वाले बच्चे कर सकेंगे।

कोविड-19 संक्रमण की चुनौती के बीच आनलाइन क्लासों के माध्यम से सरकारी स्कूलों के बच्चों की शिक्षा जारी रखने के लिए उन्हें टैब अथवा लैपटाप दिए जाने की मांग जजपा विधायक और दलित नेता ईश्वर सिंह ने विधानसभा के अंदर यह मामला उठाया था। जिस पर सीएम ने सदन में आश्वस्त किया था कि आर्थिक चुनौती के बावजूद वे इस दिशा में ठोस कदम उठाने का काम करेंगे।

उच्चपदस्थ भरोसेमंद सूत्रों का कहना है कि राज्यभर के सरकारी स्कूलों में 8 वीं से 12 वीं तक के विद्यार्थियों को पहले चरण में देने की योजना है, जिसके तहत 8 लाख से ज्यादा विद्यार्थी कवर होंगे। इनमें 8वीं, 9वीं को आठ इंच का जबकि वरिष्ठ कक्षाओं वाले दसवीं 11 वीं और 12 वीं कक्षा के बच्चों को दस इंच वाला बेहतर कंपनी का टैब दिया जाएगा। जिसमें बैटरी बैकअप अच्छा होने के साथ ही सभी तरह की बातों का ध्यान रखा जा रहा है। इन बच्चों को यह केवल पढ़ाई करने व तीन साल के लिए लाइब्रेरी सिस्टम की तरह से मिलेगा, ताकि भविष्य में यह बाकी बच्चों को इनका लाभ मिल सके।

पहली से सातवीं तक के लिए स्मार्ट क्लास

इसके अलावा पहली से सातवीं तक कक्षा वाले विद्यार्थियों के लिए स्मार्ट सिस्टम को अपनाया जाएगा। इससे संक्रमण का डर कम रहेगा साथ ही एक बेहतर आधुनिक सिस्टम से उनको शिक्षा जारी रखने की तैयारी है। हालांकि इसमें भी सरकार को मोटा खर्च वहन करना होगा।

साढ़े छह सौ करोड़ का खर्च

विभाग के प्रमुख सचिव डा. महावीर सिंह का कहना है कि इस पर साढ़े छह सौ से सात सौ करोड़ का खर्च आएगा। इस काम के लिए हम पारदर्शी सिस्टम से टेंडर करने जा रहे हैं। जिसमें केंद्र सरकार के जैम, सरकारी एजेंसी हारट्रोन और विशेषज्ञ कंपनियों के टेंडर मांगे जा रहे हैं। इस दिशा में सारी तैयारी कर ली गई है। टेंडर में शर्त लगी है कि यह ओरिजनल उपकऱण तैयार करने की शर्त के साथ में दिए जा रहे हैं, साथ ही यह पूरा का पूरा मामला हाई पावर पर्चेज कमेटी में जाएगा।

दलितों, पिछड़ों और गरीब बच्चों की पढ़ाई के लिए उठाई थी आवाज : ईश्वर सिंह

जननायक जनता पार्टी विधायक और वरिष्ठ नेता ईश्वर सिंह कहते हैं कि राज्य के सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले दलित, पिछड़ों और गरीब बच्चों की पढ़ाई प्रभावित होने को लेकर सदन में आवाज उठाते हुए मुख्यमंत्री से तुरंत ही इन बच्चों को राहत देने की मांग की थी। जिस पर सदन के नेता ने आश्वासन दिया था कि इन बच्चों को लेकर हम ठोस कदम उठाएंगे। ईश्वर सिंह का कहना है कि कईं कारणों से इसमें देरी हुई है लेकिन हमारी गठबंधन की सरकार द्वारा इन विद्यार्थियों के लिए बड़ी बात सोची गई है। जिसके लिए मैं राज्य सरकार व सीएम का आभार व्यक्त करता हूं।

लाइब्रेरी सिस्टम की तरह से मिलेंगे टैब % डाक्टर महावीर सिंह

हरियाणा स्कूल एजूकेशन विभाग के प्रमुख सचिव डाक्टर महावीर सिंह का कहना है कि राज्य सरकार की ओर से गरीब बच्चों को लाइब्रेरी सिस्टम से आठवीं से लेकर 12 वीं तक के बच्चों को टैब प्रदान करने का फैसला लिया है। इस दिशा में हमने टेंडर काल करने जा रहे हैं। हमारा प्रयास है कि गुणवत्ता वाला टैब सर्वोच्च सूची वाली कंपनियों से खरीदा जाए ताकि विद्यार्थियों को असल में इसका फायदा मिल सके। सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले गरीब बच्चों के लिए यह बहुत ही बड़ा कदम होगा।

Next Story