Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

सभी जिला मुख्यालयों पर 'हरियाणा खादी व ग्रामोद्योग बोर्ड' की दुकानें खोली जाएंगी, जानें क्या बिकेगा

हरियाणा के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला (Deputy Chief Minister Dushyant Chautala) ने 'हरियाणा खादी व ग्रामोद्योग बोर्ड' की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करते हुए अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे राज्य के ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को खादी के वस्त्र जैकेट, कुर्ता-पाजामा, बैड-शीट, रजाई, अचार,शहद, साबुन, तेल, शैंपू व मसालों के अलावा अन्य पारंपरिक उत्पादों के साथ-साथ बाजरा के बिस्कुट, कुरकुरे व अन्य नए उत्पादों का निर्माण करने के लिए प्रोत्साहित करें।

सभी जिला मुख्यालयों पर हरियाणा खादी व ग्रामोद्योग बोर्ड की दुकानें खोली जाएंगी, जानें क्या बिकेगा
X

चंडीगढ़। हरियाणा के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला (Deputy Chief Minister Dushyant Chautala) ने कहा कि राज्य के सभी जिला मुख्यालयों पर आगामी 6 माह में 'हरियाणा खादी व ग्रामोद्योग बोर्ड' की दुकानें खोली जाएंगी जिनमें बोर्ड द्वारा बनवाए गए उत्तम गुणवत्ता के उत्पादों(Products) की बिक्री की जाएगी। नई दिल्ली के चाणक्यपुरी स्थित लोक निर्माण विश्राम गृह में भी एक बड़ी दुकान खोली जाएगी ताकि देश की राजधानी में हरियाणा के खादी उत्पादों को विदेशों से आने वाले पर्यटक भी खरीद सकें। ये सभी दुकानें एक ही स्टैंडर्ड-साइज व डिजाइन में आकर्षक बनाई जाएंगी।

डिप्टी सीएम, जिनके पास विकास एवं पंचायत तथा पुनर्वास विभाग का प्रभार भी है, ने 'हरियाणा खादी व ग्रामोद्योग बोर्ड' की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करते हुए अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे राज्य के ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को खादी के वस्त्र जैकेट, कुर्ता-पाजामा, बैड-शीट, रजाई, अचार,शहद, साबुन, तेल, शैंपू व मसालों के अलावा अन्य पारंपरिक उत्पादों के साथ-साथ बाजरा के बिस्कुट, कुरकुरे व अन्य नए उत्पादों का निर्माण करने के लिए प्रोत्साहित करें। उन्होंने बताया कि केंद्र सरकार की 'आत्मनिर्भर भारत' योजना के अंतर्गत उक्त उत्पादों का व्यवसाय करने वाले लोगों को सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योगों (एमएसएमई) के तहत मुद्रा-लोन दिलवाया जाएगा।

दुष्यंत चौटाला ने कहा कि राज्य सरकार 'हरियाणा खादी व ग्रामोद्योग बोर्ड' के अंतर्गत बनाए जाने वाले उत्पादों को ज्यादा से ज्यादा प्रमोट करना चाहती है। उन्होंने बताया कि बोर्ड द्वारा सभी उत्पादों पर 'लोगो' लगाकर बेचा जाएगा ताकि 'हरियाणा खादी व ग्रामोद्योग बोर्ड' एक ब्रांड बनकर उभरे।

और पढ़ें
Next Story