Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Dussehra : सड़कों पर सजे रावण के पुतले, कारीगरों को उम्मीद के अनुसार नहीं मिल रहे ग्राहक

पिछले वर्ष कोरोना महामारी के कारण पुतला दहन नहीं होने से मंदी रही वही इस वर्ष कीमत कम करने पर भी कारीगर अभी खाली बैठे है वैसे उनको विश्वास है कि इस बार तो कई पुतले बिक जाएंगे जिस को लेकर वो पुतले तैयार करने में लगे हुए है।

Dussehra : सड़कों पर सजे रावण के पुतले, कारीगरों को उम्मीद के अनुसार नहीं मिल रहे ग्राहक
X

रेवाड़ी : सर्कुलर रोड पर सजे रावण के पुतले।

हरिभूमि न्यूज : रेवाड़ी

तीन दिन बाद 15 अक्तूबर को आने वाले विजयदशमी पर्व पर दहन के लिए शहर की सड़कों पर कारीगर रावण के पुतले तैयार करने सजाने लगे है,लेकिन अभी ऑर्डर नहीं मिलने के कारण कारीगर परेशानी में नजर आ रहे है। पिछले वर्ष कोरोना महामारी के कारण पुतला दहन नहीं होने से मंदी रही वही इस वर्ष कीमत कम करने पर भी कारीगर अभी खाली बैठे है वैसे उनको विश्वास है कि इस बार तो कई पुतले बिक जाएंगे जिस को लेकर वो पुतले तैयार करने में लगे हुए है।

सरकूलर रोड पर पुतले तैयार कर रहे कारीगर राजेश, राहुल, टिंकू ,अभिषेक का 11 सदस्यों का पूरा पूरा परिवार रावण के पुतले बनाने में लगा हुआ है। उन्होंने बताया कि हमारे पास 2 फुट से लेकर 15 फुट तक के रावण के पुतले उपलब्ध है,लेकिन अभी बुक नहीं किए गए है। कोरोना से पहले दशहरे के पर्व से एक-डेढ महीने पूर्व ऑर्डर आने शुरू हो जाते थे और करीब 30-35 बड़े पुतले बिक जाते थे,लेकिन अबकी बार बाजार खुलने के बाद भी दशहरे के तीन-चार दिन शेष रहने पर भी ऑर्डर नहीं है।

उन्होंने बताया कि इस बार हमने पहले की अपेक्षा पुतलों की कीमत भी कम की हुई है फिर भी ग्राहक नहीं है। कारीगर राजेश ने कहा कि इस बार हमने बच्चों के लिए 2 से तीन फुट के छोटे पुतले भी तैयार किए है। शहर में दशहरे के पर्व पर दहर के लिए सरकूलर रोड, दिल्ली रोड,झज्जर रोड पर रावण के पुतले बनाए जा रहे है।

Next Story