Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

अब विद्यार्थियों के स्किल डेवलपमेंट पर फोकस करेगा CBSE

शिक्षा सत्र 2021-22 से तीन स्तर पर यह कार्यक्रम शुरू होगा। इसी को लेकर बाकायदा सीबीएसई ने लिस्ट जारी की है, जिसके आधार पर विभिन्न स्किल बच्चों को सिखाई जाएंगी।

CBSE Practical Exam 2021: कोरोना वायरस से प्रभावित छात्रों फिर से आयोजित होगी पैक्टिकल परीक्षा
X

सीबीएसई प्रैक्टिकल परीक्षा 2021

नरेश पंवार. कैथल

सीबीएसई- सैंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंड्री एजुकेशन से जुड़े स्कूलों में अब विद्यार्थी शिक्षा के साथ-साथ कौशल भी हासिल करेंगे। सीबीएसई अब स्किल डेवलपमेंट पर फोकस कर रहा है। शिक्षा सत्र 2021-22 से तीन स्तर पर यह कार्यक्रम शुरू होगा। इसी को लेकर बाकायदा सीबीएसई ने लिस्ट जारी की है, जिसके आधार पर विभिन्न स्किल बच्चों को सिखाई जाएंगी। इसका मकसद विद्यार्थी जीवन से ही बच्चों को आत्मनिर्भर बनाना है, ताकि वे भविष्य में इन सीखी गई स्किल के आधार पर अपना करियर भी बना सकें। इसको लेकर स्कूलों में तैयारियां की जा रही हैं। खास है कि सबसे ज्यादा फोकस छठी से आठवीं तक के बच्चों पर है।

सीबीएसई ने छठी से आठवीं, नौंवी व दसवीं तथा 11वीं और 12वीं कक्षाओं के लिए तीन लिस्टें की हैं। इन कक्षाओं के विद्यार्थियों के लिए अलग-अलग स्किल डेवलेपमेंट कोर्स दिए गए हैं। सबसे ज्यादा फोकस छठी से आठवीं तक के विद्यार्थियों पर है। इन कक्षाओं के लिए विद्यार्थियों के लिए यह कोर्स करने जरूरी हैं। इस में नौ कोर्स सिलेक्ट किए गए हैं, जिसका सिलेबस बारह घंटे पढ़ाया जाना है। यह परीक्षा पचास नंबर की होगी, जबकि इस में 15 अंक थ्योरी व प्रेक्टिकल 35 अंक के होंगे। इसी तरह नौंवी व दसवीं के विद्यार्थियों के लिए 18 कोर्स सिलेक्ट किए गए हैं, जो सौ नंबर के होंगे। इन में पचास अंक थ्योरी तथा पचास अंक प्रेक्टिकल के होंगे।

इसी तरह 11वीं और 12वीं के विद्यार्थियों के लिए 38 कोर्स सिलेक्ट किए गए हैं। यह परीक्षा सौ अंकों की होगी। इसकी परीक्षा भी थ्योरी और प्रेक्टिकल पर ही रहेगी। किसी कोर्स में थ्योरी 70, 60, 50 अंकों की होगी, जबकि बाकी अंक प्रेक्टिकल के होंगे।गौरतलब है कि अभी तक कौशलपरक कोर्स हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड भिवानी द्वारा विभिन्न राजकीय स्कूलों में चलाए जा रहे थे जिनके अच्छे परिणाम सामने आए हैं। अब सीबीएसई बोर्ड द्वारा भी इस प्रकार के कोर्स चलाए जाने से युवाओं की स्किल निखरकर सामने आएगी। टैगोर पब्लिक स्कूल कैथल के प्रिंसिपल रोबिन कुमार ने बताया कि सीबीएसई ने शिक्षा सत्र 2021-22 के लिए स्किल डेवलेपमेंट के लिए कार्यक्रम तैयार किया है। इसके लिए आवेदन भी मांगे गए हैं। छठी से आठवीं तक की कक्षाओं के लिए अनिवार्य किया गया है। इससे बच्चों में स्किल डेवलेपमेंट होगा और वे आत्मनिर्भर भी बन सकेंगे।

Next Story