Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

न एटीएम पिन या ओटीपी पूछा फिर भी खाते से निकल गए 33 हजार रुपये

ऐसी ही एक घटना आबकारी विभाग में निरीक्षक के पद पर कार्यरत दिनेश मेहरा के साथ घटी। धोखाधड़ी के शिकार दिनेश मेहरा ने पुलिस को शिकायत देने के साथ बैंक अधिकारियों को भी सूचित कर दिया है मगर अभी तक धोखेबाजों का कोई सुराग नहीं लगा है।

अकाउंटेंट ने फैक्टरी के अकाउंट में 95 लाख रूपये का किया फर्जीवाड़ा
X

(प्रतीकात्मक फोटो)

हिसार : धोखाधड़ी से एटीएम कार्ड बदलकर खाते से पैसे निकालने की घटनाएं अनेक सामने आ चुकी हैं। लेकिन अब एटीएम से धोखाघड़ी करने वालों ने नया तरीका इजाद कर लिया है। एटीएम कार्ड खाताधारक के पास होने के बाद भी ऐसे ठग खाते से रकम उड़ाने में कामयाब हो जाते हैं।

ऐसी ही एक घटना आबकारी विभाग में निरीक्षक के पद पर कार्यरत दिनेश मेहरा के साथ घटी। उनके पास न तो किसी बैंक अधिकारी के नाम से फर्जी कॉल आई और न ही किसी ठग ने न उसका एटीम पिन या ओटीपी पूछा। फिर भी फतेहाबाद के स्टेट बैंक के खाते से मोहाली में एक एटीएम के माध्यम से दस-दस हजार रुपये तीन बार तथा बाद में उसके खाते का बैलंेस चेक कर तीन हजार रुपये और निकाल लिए।

धोखाधड़ी के शिकार दिनेश मेहरा ने पुलिस को शिकायत देने के साथ बैंक अधिकारियों को भी सूचित कर दिया है मगर अभी तक धोखेबाजों का कोई सुराग नहीं लगा है। इसके लिए संबंधित एटीएम की वीडियो फुटेज भी खंगाली जा रही है। खाताधारक के अनुसार उसने अंतिम बार भूना में पंजाब नेशनल बैंक के एटीएम से अपने खाते से रकम की निकासी की थी। संभवत: वहीं से ही किसी तकनीक से साइबर ठगों ने उसके एटीएम की जानकारी हासिल कर संभवत: उसका क्लोन बनाकर रकम की निकासी कर ली।

Next Story