Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बजट-सत्र में विपक्ष घेरेबंदी की तैयारी में, सत्तापक्ष ने भी बनाई रणनीति

इस सत्र के लिए सियासी दिग्गजों ने भी मोर्चेबंदी की शुरुआत कर दी है। नेता विपक्ष और पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा व विधायकों ने सत्तापक्ष को किसान आंदोलन सहित कईं मुद्दों पर घेरने की रणनीति तैयार कर ली है।

बजट-सत्र में विपक्ष घेरेबंदी की तैयारी में, सत्तापक्ष ने भी बनाई रणनीति
X

योगेंद्र शर्मा : चंडीगढ़

हरियाणा विधानसभा के बजट-सत्र के लिए जहां एक ओर राज्य वित्त विभाग के आला-अफसर तैयारी में जुटे हैं। वहीं, इस सत्र के लिए सियासी दिग्गजों ने भी मोर्चेबंदी की शुरुआत कर दी है। नेता विपक्ष और पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा व विधायकों ने सत्तापक्ष को किसान आंदोलन सहित कईं मुद्दों पर घेरने की रणनीति तैयार कर ली है। वहीं विधानसभा से किसानों के आंदोलन के समर्थन और तीन कृषि कानूनों के विरोध में इस्तीफा देने वाले अभय चौटाला ने सदन के बाहर रहकर सत्तापक्ष के विरुद्ध मोर्चेबंदी का दावा किया है। दूसरी तरफ सत्तापक्ष की ओर से खुद सीएम और मंत्रीमंडल के सहयोगी विपक्ष को करारा जवाब देने की बात कर रहे हैं।

विधानसभा के बजट सत्र को लेकर खुद मुख्यमंत्री मनोहरलाल जहां अपने सभी विधायकों और मंत्रियों के साथ में बैठक कर आगे की ऱणनीति बना चुके हैं। वहीं दूसरी तरफ डिप्टी सीएम दुष्यंत और उनके सभी विधायक भी विपक्ष को करारा जवाब देने की तैयारी कर रहे हैं। सीएम और डिप्टी सीएम दोनों का कहना है कि हमारे पास प्रदेश की जनता को बताने के लिए बहुत कुछ है।

प्रदेश के गृहमंत्री अनिल विज का कहना है कि हमारी सरकार व विधायक बजट सत्र के लिए पूरी तरह से तैयार हैं। हर विषय पर विपक्ष की ओर से हवाई दावे व किसानों को गुमराह करने वाली बातों का जवाब तथ्यों के साथ में दिया जाएगा, जनता पहले ही इन लोगों को नकार चुकी है क्योंकि इनके शासनकाल में क्या होता रहा है, सभी जानते हैं, इसीलिए सत्र को लेकर भाजपा पूरी तरह से तैयार है।

सरकार ने लोगों का विश्वास खाोया : नेता विपक्ष हुड्डा

पूर्व मुख्यमंत्री और हरियाणा विधानसभा में नेता विपक्ष भूपेंद्र सिंह हुडडा ने विधानसभा सत्र को लेकर कहा कि हमारे सभी विधायक एकजुट हैं। सदन में सत्तापक्ष को घेरने के लिए हमने खास तैयारी की है क्योंकि किसान इतने लंबे अर्से से सड़कों पर बैठे हुए हैं लेकिन सरकार को उनके हितों और जान की परवाह नहीं हैं। प्रदेश में रजिस्ट्री शराब घोटाला ना जाने आए दिन नए नए मामले सामने आ रहे हैं। हुडडा ने कहा कि वर्तमान में राज्य की मनोहर सरकार जनता और विधायकों का विश्वास खो चुकी है। निर्दलीय जो भी विधायक भाजपा की राज्य सरकार को समर्थन कर रहे थे, वे समर्थन वापसी का एलान कर चुके हैं, इसीलिए सरकार के पास सत्ता में बने रहने का कोई भी अधिकार नहीं हैं। हुडडा का कहना है कि हम विधानसभा के अंदर अविश्वास प्रस्ताव लेकर आएंगे।

अभय चौटाला को इस्तीफा देने पर दी नसीहत, कमर दिखाकर नहीं भागना चाहिए

नेता विपक्ष और पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने कहा कि इनेलो के एकमात्र विधायक अभय चौटाला को जनता ने चुनकर विधानसभा में भेजा था, जहां पर जनता, किसानों के हकों की लड़ाई लड़नी चाहिए थी। लेकिन इस तरह से इस्तीफा देकर कमर दिखाकर जाना ठीक नहीं हैं। जनता ने चुनकर आवाज उठाने के लिए भेजा था, इसीलिए सदन में रहकर ही सरकार को घेरा जा सकता है।

नेता विपक्ष हुड्डा पर हमला बोलते हुए इनेलो के पूर्व विधायक अभय सिंह चौटाला ने कहा कि उन्होंने चौधरी देवीलाल की परंपरा को निभाने का काम किया है। जनता और किसानों के हित के लिए सदन से इस्तीफा देनेे का काम किया है, लेकिन कांग्रेस के लोग सदन में जनता के मुद्दे उठाने के स्थान पर सत्तापक्ष के साथ में मिलकर काम करते हैं, एक तरह से सरकार के एजेंट के तौर पर काम कर रहे हैं।

एक-एक पल की कार्रवाई देखने का काम करेंगे : अभय चौटाला

अभय चौटाला ने कहा कि वे इस बार के बजट सत्र में भले ही विधायकों वाली सीट पर नहीं होंगे लेकिन स्पीकर गैलरी में बैठकर एक-एक पल की कार्रवाई देखने का काम करेंगे। अभय चौटाला ने कहा कि सदन के अंदर और बाहर शराब घोटाले, रजिस्ट्री घोटाले सहित तमाम मुददे ही हमने उठाने का काम किया है। आने वाले वक्त में भी जनता के हितों को लेकर काम करते रहेंगे।

Next Story