Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

फर्जी फर्म बनाकर 11 लाख 36 हजार रुपये की जीएसटी चोरी

आबकारी एवं कराधान विभाग ने एक फर्म मालिक के खिलाफ खरखौदा थाने में धोखाधड़ी व अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया है।

जीएसटी क्षतिपूर्ति : प्रदेश को मिले 236.93 करोड़
X

हरिभूमि न्यूज. खरखौदा

आबकारी एवं कराधान विभाग ने एक फर्म मालिक के खिलाफ खरखौदा थाने में धोखाधड़ी व अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया है। आरोप है कि खरखौदा में दर्शाए गए पते पर येलो लाइन ट्रेडीमेंस नाम से एक फर्म संचालित की जा रही थी। जिसकी जांच करने पर पाया गया कि फर्म संचालक ने 11 लाख 36 हजार 507 रुपये के टैक्स चोरी की है।

आबकारी एवं कराधान अधिकारी राकेश कुमार का कहना है कि खरखौदा में संचालित येलो लाइल ट्रेडीमेंस फर्म का तो पता दिया गया था वहां पर जांच की गई तो मौके पर कोई फर्म चलती हुई नहीं मिली। जिसके बाद रिकार्ड में पते दशार्ना के लिए लगाए गए बिजली के बिल की भी बिजली निगम खरखौदा एसडीओ से जांच करवाई गई। जिनके द्वारा भी इसे फर्जी बताया गया। इसके बाद फर्म द्वारा जिन दूसरी फर्मों के साथ सामान की खरीद-फरोख्त की गई थी वह दिल्ली की हैं। वहां पर भी जांच की गई, लेकिन उनके बारे में भी कहीं कोई जानकारी नहीं मिल सकी। जिससे सामने आया कि किसी ने सेल टैक्स की चोरी करने के लिए फर्जी फर्म खोल रखी थी। जिसे लेकर अब एक शिकायत खरखौदा थाने में फर्म मालिक के खिलाफ दी गई है। जिस पर पुलिस ने विभिन्न धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया है। वहीं इसी प्रकार का एक मामला नवबंर माह में भी चुका है। जिसमें भी करोडों रुपये की कर चोरी को लेकर ईटीओ राकेश कुमार द्वारा शिकायत मुकदमा दर्ज कराया गया था।

Next Story