Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बहादुरगढ़ : अवैध कॉलोनी में सरकारी पैसे की फजूलखर्ची

बहादुरगढ़ क्षेत्र के निजामपुर रोड पर अमरुत योजना के तहत अवैध (Illegal) औद्योगिक (industrial) क्षेत्र (area) में पेयजल लाइन (Water Line) बिछाई जा रही है।

बहादुरगढ़ : अवैध कॉलोनी में सरकारी पैसे की फजूलखर्ची
X
बहादुरगढ़। निजामपुर रोड पर अवैध कॉलोनी में बिछाई जा रही पेयजल।

बहादुरगढ़। केंद्र सरकार की अटल मिशन फॉर रीजूवेनेशन एंड अर्बन ट्रांसर्फोमेशन (अमरुत) (AMRUT) योजना (scheme) के तहत शहर में सरकारी तंत्र का पैसा (Money) अवैध (Illagal) कॉलोनी(Colony) में लगाकर कॉलोनाइजरों को लाभ पहुंचाने का खेल चल रहा है। शहर के निजामपुर रोड पर अवैध औद्योगिक क्षेत्र में पेयजल लाइन बिछाई जा रही है। यह नगर परिषद की सीमा से बाहर का इलाका है, यहां जिला नगर योजनाकार विभाग कई बार जेसीबी भी चला चुका है। लेकिन वैध रिहायशी कॉलोनियों को छोड़कर अवैध इलाके में पेयजल लाइन बिछाने का काम जारी है।

शहर की वैध और पुरानी कॉलोनियों के निवासियों के लिए सीवरेज व पेयजल लाइन बिछाने में आनाकानी करने वाली नगर परिषद अवैध इलाके में धड़ल्ले से पेयजल लाइन बिछा रही है। जहां आबादी बसी हुई और इन सुविधाओं की जरुरत है, वहां लोग इंतजार कर रहे हैं। जबकि जहां नियमानुसार काम नहीं हो सकता, वहां काम हो रहा है। बता दें कि मोदी सरकार की इस महत्वाकांक्षी योजना के अंतर्गत पेयजल सिस्टम मजबूत करने के लिए करीब 32 करोड़ रुपए की राशि खर्च कर 100 एमएम से 600 एमएम मोटाई की करीब 105 किलोमीटर लंबी पाइपलाइन बिछाने का कार्य जारी है।

नेताजी नगर में रहने वाले राजेश, बृजलाल, नरेंद्र, भुवनेश, नारायण, बलराम व सीमा आदि ने बताया कि आम जनता को सुविधा देने की बजाए कॉलोनाइजरों को लाभ पहुंचाया जा रहा है। वैध कॉलोनियों तथा सघन रिहायशी इलाके को पेयजल लाइनों के बिछने का इंतजार है। लेकिन अवैध इलाके में प्राथमिकता के आधार पर लाइनें बिछाई जा रही हैं। यह अपने आप में परिषद की भूमिका पर सवाल खड़े करता है। इस मामले में नगर परिषद अधिकारियों ने दस्तावेज और मौका देखे बगैर कुछ भी बताने से इंकार कर दिया। वहीं एसडीएम हितेंद्र शर्मा ने कहा कि नगर परिषद अधिकारियों से इस मामले में पूछताछ की जाएगी। नियमों का उल्लंघन कर किया जा रहा कोई भी अनुचित काम बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।


Next Story
Top