Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

किसानों और पशु पालकों को बायोगैस प्लांट लगाने पर मिलेंगे 12 हजार रुपये

बायोगैस प्लांट लगाकर पशुपालक ,किसान इसे इंधन के रुप में भी प्रयोग कर सकते हैं। उन्होंने बताया कि विभाग द्वारा 2, 3, 4 और 6 घन मीटर क्षेत्र में बायोगैस प्लांट लगाने पर संबंधित किसानों को अनुदान का लाभ दिया जा रहा है।

मुंहखुर व गलघोटू बीमारियों से बचाव के लिए 2.4 लाख पशुओं को लगाए जायेंगे टीके
X
पशु (प्रतीकात्मक फोटो)

हरिभूमि न्यूज.भिवानी

कृषि एवं किसान कल्याण विभाग द्वारा किसानों,पशु पालकों को बायोगैस प्लांट लगाने पर 12 हजार रुपये की राशि अनुदान के तौर पर दी जा रही है। यह जानकारी देते हुए खंड कृषि अधिकारी डॉ संजय कुमार ने बताया कि किसान बायोगैस प्लांट के माध्यम से गोबर की शुद्ध देसी खाद प्राप्त कर सकते हैं।

उन्होंने बताया कि इस खाद से भूमि मे सूक्ष्म तत्वों की पूर्ति व आर्गेनिक कार्बन की बढ़ोत्तरी प्राप्त कर सकते हैं। इस खाद से खरपतवार व दीमक पर भी अंकुश लगेगा। उन्होंने बताया कि कच्ची गोबर की खाद डालने से दीमक व खरपतवार की बढ़ोतरी होती है। बायोगैस प्लांट लगाकर पशुपालक ,किसान इसे इंधन के रुप में भी प्रयोग कर सकते हैं। उन्होंने बताया कि विभाग द्वारा 2, 3, 4 और 6 घन मीटर क्षेत्र में बायोगैस प्लांट लगाने पर संबंधित किसानों को अनुदान का लाभ दिया जा रहा है। खंड कृषि अधिकारी ने बताया कि क्षेत्र के विभिन्न गांवों में किसानों द्वारा बायोगैस प्लांट लगाए गए हैं।

उन्होंने बताया कि पशुओं एवं गोबर की क्षमता के अनुसार यह प्लांट लगाया जा सकता है। गांव झावरी, निगाना कलां,सरल,बिडौला, ईशरवाल, हंसान,खरकडी माखवान,दुलहेडी तथा संडवा सहित विभिन्न गांवों के किसानों ने बायोगैस प्लांट लगाकर ईंधन की बचत के साथ-साथ शुद्ध देसी खाद भी प्राप्त कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि जो किसान बायोगैस प्लांट लगाने के इच्छुक हैं वे अपने क्षेत्र के कृषि विकास अधिकारी या खंड कृषि अधिकारी से संपर्क स्थापित कर सकते हैं।

Next Story