Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

पांच माह से बिजली बिल नहीं मिलने से उपभोक्ता परेशान

अंतिम बार बिजली बिल सितंबर 2020 में भेजा गया था। इसके बाद न तो बिजली बिल को लेकर कोई मैसेज मोबाइल पर आ रहा है तथा ना ही बिजली बिल भेजे जा रहे हैं।

बिजली बिल का बकाया 1300 करोड, वसूली में छूट रहा पसीना
X
बिजली (प्रतीकात्मक तस्वीर)

हरिभूमि न्यूज. रेवाड़ी (धारूहेड़ा)

औद्योगिक क्षेत्र धारूहेड़ा में पिछले पांच माह से बिजली बिल नहीं मिलने से उपभोक्ता परेशान है। अपने बिजली बिलों का भुगतान करने के लिए भटक रहे उपभोक्ताओं को निगम अधिकारियों से भी कोई संतोषजनक जवाब नहीं मिल रहा है।

उपभोक्ताओं का कहना है कि उन्हें अंतिम बार बिजली बिल सितंबर 2020 में भेजा गया था। इसके बाद न तो बिजली बिल को लेकर कोई मैसेज मोबाइल पर आ रहा है तथा ना ही बिजली बिल भेजे जा रहे हैं। उपभोक्ताओं का कहना है कि निगम अधिकारियों की लापरवाही से पांच माह से अटके बिजली बिलों का भुगतान एक साथ कर पाना सभी उपभोक्ताओं के लिए संभव नहीं है। पांच माह या इससे अधिक समय का बिल एक साथ आने से सरकार द्वारा तय किए गए मानकों के अनुसार उपभोक्ताओं को अतिरिक्त भुगतान करना पड़ेगा।

निगम अधिकारी जानबूझकर उपभोक्ताओं पर आर्थिक बोझ डालने के लिए बिल भेजने में देरी कर रहे हैं। वहीं एसडीओ अवधेश कुमार का कहना है बिल तैयार करने की अपडेटिंग प्रक्रिया के कारण बिल जरनेट करने में देरी हो रही है। आगे से नया बिल का नंबर 10 डिजिट का होगा। जिसे ऑनलाइन भी जमा किया जा सकेगा। विभाग की तरफ से हो रही देरी के चलते उपभोक्ताओं से किसी प्रकार का सरजार्च नहीं लिया जाएगा।

Next Story