Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कांस्टेबल भर्ती पेपर लीक मामला : 11 आरोपियों को पकड़ने के लिए पुलिस ने घोषित किया लाखों का इनाम

मामले में वांछित 2 आरोपियों की गिरफ्तारी की सूचना देने पर 2-2 लाख रुपये इनाम तथा 9 आरोपियों की गिरफ्तारी की सूचना देने 50-50 हजार रुपये इनाम घोषित किया गया है।

कांस्टेबल भर्ती पेपर लीक मामला : 11 आरोपियों को पकड़ने के लिए पुलिस ने घोषित किया लाखों का इनाम
X

एसपी लोकेंद्र सिंह

हरिभूमि न्यूज. कैथल

7 अगस्त को हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग द्वारा प्रदेश भर में आयोजित पुलिस कांस्टेबल की लिखित परीक्षा लीक होने के मामले में हरियाणा व जम्मू कश्मीर से 30 आरोपियों की गिरफ्तारी उपरांत मामले में वांछित 11 आरोपियों की गिरफ्तारी की सूचना देने पर ईनाम की राशि घोषित की है। पुलिस अधीक्षक लोकेंद्र सिंह ने बताया कि सिपाही पेपर लीक मामले में वांछित 2 आरोपियों की गिरफ्तारी की सुचना देने पर 2-2 लाख रुपए तथा 9 आरोपियों की गिरफ्तारी की सुचना देने 50-50 हजार रुपए प्रत्येक ईनाम घोषित किया गया है।

एसपी ने बताया कि उक्त मामले में वांछित आरोपी मुहमद अफजल दर निवासी हजरत बल श्रीनगर तथा आरोपी मुजफर अहमद निवासी गुल जिला रामबन जम्मु पर 2-2 लाख रुपए ईनाम घोषित किया गया है। जबकि उक्त मामले में वांछित आरोपी कुलदीप निवासी खांडाखेडी जिला हिसार, वेदप्रकाश निवासी रिटौली जिला रोहतक, नवीन निवासी माजरा प्यो जिला हिसार, रमेश व अशोक दोनों निवासी खुडाना जिला महेंद्रगढ, प्रदीप निवासी हिसार, निहाल सिंह तथा मनोहर दोनों निवासी ढानी खुशहाल माजरा जिला भिवानी तथा राधे श्याम निवासी इक्कस जिला जींद पर 50-50 हजार रुपए ईनाम प्रत्येक पर घोषित किया गया है। गौरतलब है कि पुलिस अधीक्षक लोकेद्र सिंह के नेतृत्व में कैथल पुलिस ने पुलिस कांस्टेबल पेपर लीक मामले में 7 अगस्त को पेपर के दिन ही कैथल के माता गेट के निकट से तीन आरोपियों को आंसर-की सहित काबू किया था। बाद में खुलासा हुआ था कि यह आंसर-की न केवल कैथल बल्कि प्रदेश के सभी परीक्षा केंद्रों के कुछ परीक्षार्थियों तक समय से पहले ही पहुंचा दी गई थी। ऐसे में हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग द्वारा परीक्षा को रद्द कर दिया गया था।

मामले को गंभीरता से लेते हुए कैथल की सीआईए वन व टू पुलिस ने कार्रवाई करते हुए दिन रात एक कर मामले में चेन से चेन जोड़ते हुए एक के बाद एक करीब 20 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया था। बाद में खांडाखेड़ी के राजकुमार की गिरफ्तारी के बाद मामले के तार जम्मू कश्मीर व श्रीनगर से जुड़े पाए गए। एसआईटी की टीम और कैथल की पुलिस टीमों ने खतरों का सामना करते हुए जम्मू कश्मीर व श्रीनगर से भी कई आरोपियों सहित कुल 20 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया था लेकिन काफी प्रयास के बाद भी आरोपी मुहमद अफजल दर निवासी हजरत बल श्रीनगर तथा आरोपी मुजफर अहमद निवासी गुल जिला रामबन जम्मू पुलिस के हाथ नहीं लगे।

अब पुलिस ने आरोपी मुहमद अफजल दर निवासी हजरत बल श्रीनगर तथा आरोपी मुजफर अहमद निवासी गुल जिला रामबन जम्मू की सूचना देने पर दो लाख प्रत्येक तथा मामले में संलिप्त अन्य आरोपी कुलदीप निवासी खांडाखेडी जिला हिसार, वेदप्रकाश निवासी रिटौली जिला रोहतक, नवीन निवासी माजरा प्यो जिला हिसार, रमेश व अशोक दोनों निवासी खुडाना जिला महेंद्रगढ, प्रदीप निवासी हिसार, निहाल सिंह तथा मनोहर दोनों निवासी ढानी खुशहाल माजरा जिला भिवानी तथा राधे श्याम निवासी इक्कस जिला जींद पर 50-50 हजार रुपए इनाम राशि देने की घोषणा की है।

पुलिस की निरंतर दबिश से भूमिगत हुए आरोपी

7 अगस्त से लेकर आज तक पुलिस की टीम निरंतर कड़ी से कड़ी जोड़ते हुए आरोपियों को धर दबोच रही थी। जैसे ही मामले में संलिप्त अन्य आरोपियों को पुलिस दबिश की सूचना मिली तो वे भूमिगत हो गए। हालांकि पुलिस ने दिन रात कर आरोपियों को धर दबोचने में कोई कसर नहीं छोड़ी लेकिन अब पुलिस ने आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए ईनाम राशि घोषित की है ताकि आरोपी जल्द पुलिस गिरफ्त में आ सकें।

Next Story