Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

उदयपुर-अमरावती हत्याकांड और मां काली के अपमान के विरोध में हिंदू संगठनों ने किया प्रदर्शन, बड़ी संख्या में साधु-संत हुए शामिल

राजधानी दिल्ली में हिंदू संगठनों (Hindu organizations) ने राजस्थान के उदयपुर (Udaipur) और महाराष्ट्र के अमरावती (Amravati) में हिंदुओं की हत्या (Murder of Hindus) और मां काली (Maa Kali controversy) के अपमान पर हल्ला बोल दिया है। हिंदू संगठनों ने मंडी हाउस से जंतर मंतर तक संवैधानिक संकल्प मार्च निकला ।

उदयपुर-अमरावती हत्याकांड और मां काली के अपमान के विरोध में हिंदू संगठनों ने किया प्रदर्शन, बड़ी संख्या में साधु-संत हुए शामिल
X

राजधानी दिल्ली में हिंदू संगठनों (Hindu organizations) ने राजस्थान के उदयपुर (Udaipur) और महाराष्ट्र के अमरावती (Amravati) में हिंदुओं की हत्या (Murder of Hindus) और मां काली (Maa Kali controversy) के अपमान पर हल्ला बोल दिया है। हिंदू संगठनों ने मंडी हाउस से जंतर मंतर तक संवैधानिक संकल्प मार्च निकला। जिसमें बड़ी संख्या में साधु संत ने हिस्सा लिया है।

इस विरोध प्रदर्शन में विहिप (VHP) और एबीवीपी (ABVP) शामिल हैं। लोगों के हाथों में पोस्टर और झंडे भी नजर आए। पोस्टरों के जरिए संगठनों ने हिंदुओं की हत्या के खिलाफ अपनी नाराजगी जाहिर की। इस मार्च को संविधान संकल्प यात्रा का नाम दिया गया है। यात्रा के आयोजन से पहले हिंदू संगठनों ने दावा किया गया था कि इसमें 50 हजार से ज्यादा लोग शामिल होंगे।

इससे पहले, विश्व हिंदू परिषद की युवा शाखा बजरंग दल ने शुक्रवार को सोशल मीडिया (Social medi) पर पोस्ट को लेकर जिहादी ताकतों से धमकियां मिलने वालों की मदद के लिए एक हेल्पलाइन नंबर जारी किया। आरएसएस (RSS) से जुड़े संगठन ने विभिन्न राज्यों के लिए ट्विटर पर 35 हेल्पलाइन नंबर जारी किए हैं, जिसमें लोगों से आह्वान किया गया है कि अगर वे किसी भी खतरे का सामना करते हैं या पीड़ित हो रहे हैं तो वे अपने युवा शाखा के कार्यकर्ताओं से संपर्क करें।

राजस्थान के उदयपुर में दर्जी कन्हैयालाल ने नूपुर शर्मा (Nupur Sharma) के समर्थन में सोशल मीडिया (Social media) पोस्ट किया था, जिस पर ग्राहक बनकर आए दो लोग रियाज अटारी और गौस मोहम्मद ने दुकान में घुसकर उन पर चाकू से हमला कर उनकी हत्या कर दी थी।

अमरावती में दवा की दुकान चलाने वाले उमेश कोल्हे की 21 जून की रात को घर लौटते समय हत्या कर दी गई थी। आरोप है कि कोल्हे की हत्या नुपुर शर्मा की पैगंबर मोहम्मद के बारे में विवादित टिप्पणी के समर्थन में एक पोस्ट शेयर करने के लिए की गई थी।

और पढ़ें
Next Story