Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Delhi Air Quality : अब भी गंभीर श्रेणी में है दिल्ली की हवा, लोगों को सांस लेने में हो रही है दिक्कत

राजधानी दिल्ली की हवा की गुणवत्ता लगातार बहुत खराब श्रेणी में बनी हुई है। सिस्टम ऑफ एयर क्वालिटी एंड वेदर फोरकास्टिंग एंड रिसर्च (System of Air Quality and Weather Forecasting and Research) के अनुसार दिल्ली में बुधवार को एयर क्वालिटी इंडेक्स 382 रहा।

Delhi Air Quality : अब भी गंभीर श्रेणी में है दिल्ली की हवा, लोगों को सांस लेने में हो रही है दिक्कत
X

राजधानी दिल्ली की हवा की गुणवत्ता लगातार बहुत खराब श्रेणी में बनी हुई है। सिस्टम ऑफ एयर क्वालिटी एंड वेदर फोरकास्टिंग एंड रिसर्च (System of Air Quality and Weather Forecasting and Research) के अनुसार दिल्ली में बुधवार को एयर क्वालिटी इंडेक्स 382 रहा। वही मंगलवार को दिल्ली की वायु गुणवत्ता 372 पर एक्यूआई के साथ 'बहुत खराब' श्रेणी में थी।

इस बीच केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (Central Pollution Control Board) ने सोमवार को दिल्ली-एनसीआर में वायु प्रदूषण (Air Pollution) से निपटने के लिए उपायों का सुझाव दिया है। उन्होंने एक ग्रेडेड रिस्पांस एक्शन प्लान तैयार किया है। जिसमें सड़को की मशीनीकृत सफाई और सड़कों पर पानी के छिड़काव की बढ़ती आवृत्ति, उच्च धूल उत्पादन के साथ सड़क के हिस्सों की पहचान करना और यह सुनिश्चित करना कि राष्ट्रीय हरित अधिकरण के निर्देशों के अनुसार दिल्ली-एनसीआर में सभी ईंट भट्टे बंद रहें, सीपीसीबी में उल्लिखित कुछ उपाय दिए।

उनके आदेश की प्रति आधिकारिक अधिसूचना ने आगे संबंधित अधिकारियों को यह सुनिश्चित करने के लिए कहा कि दिल्ली-एनसीआर में सभी हॉट मिक्स प्लांट और स्टोन क्रशर बंद रहें। वही एनसीआर में कोयला आधारित बिजली संयंत्रों के संचालन को कम करने के लिए मौजूदा प्राकृतिक गैस-आधारित संयंत्रों से बिजली उत्पादन को अधिकतम करने का निर्देश दिया।

वही दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय (Gopal Rai) ने राष्ट्रीय राजधानी में वायु प्रदूषण में वृद्धि के लिए पंजाब, हरियाणा और उत्तर प्रदेश में पराली जलाने को जिम्मेदार ठहराया है। वही दिवाली के बाद दिल्ली का वायु गुणवत्ता सूचकांक (AQI) "खतरनाक" हो गया और AQI 503 को छू गया। इसके बाद, दिल्ली सरकार ने शनिवार को धूल के मानदंडों का उल्लंघन करने के लिए राष्ट्रीय राजधानी में 92 निर्माण स्थलों पर भी प्रतिबंध लगा दिया।

Next Story