Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Delhi Crime : वसंत विहार ट्रिपल सुसाइड मामले में बड़ा खुलासा, बरामद किए गए नोट में लिखा...

देश की राजधानी दिल्ली के वसंत विहार ट्रिपल सुसाइड मामले (Vasant Vihar Triple Suicide Case) में बड़ा खुलासा हुआ है। पुलिस ने घर से एक सुसाइड नोट (Suicide Note) बरामद किया है। इससे खुदकुशी की खतरनाक साजिश का पर्दाफाश हुआ है।

Delhi Crime : वसंत विहार ट्रिपल सुसाइड मामले में बड़ा खुलासा, बरामद किए गए नोट में लिखा...
X

देश की राजधानी दिल्ली के वसंत विहार ट्रिपल सुसाइड मामले (Vasant Vihar Triple Suicide Case) में बड़ा खुलासा हुआ है। पुलिस ने घर से एक सुसाइड नोट (Suicide Note) बरामद किया है। इससे खुदकुशी की खतरनाक साजिश का पर्दाफाश हुआ है। आपको बता दें कि वसंत विहार (Vasant Vihar) इलाके के एक फ्लैट में एक ही परिवार के तीन सदस्य के शव मिले थे।

घर से बरामद हुए सुसाइड नोट के अनुसार मां और दोनों बेटियों ने खुदकुशी करने के लिए घर में गैस चैंबर बनाया था। उसने घर को पूरी तरह से पैक कर लिया। घर की खिड़कियों को पॉलीथिन से ढका हुआ था। इसके साथ ही घर के बाहर रोशनदान, वेंटिलेशन वाली खिड़की को भी बंद कर दिया गया था और घर में अंगीठी जला दी गई थी। इसके अलावा घर का गैस सिलेंडर खोला गया। इस तरह मां-बेटियों ने घर में गैस चैंबर (Gas Chamber) बनाकर आत्महत्या (Suicide) कर ली थी।

पुलिस ने बताया बरामद किए गए नोट में लिखा हैं। 'Too much deadly gas' (बहुत ज्यादा घातक गैस) नोट में आगे लिखा हैं कि दरवाजा खोलने के बाद माचिस या लाइटर न जलाएं, घर में बेहद खतरनाक जहरीली गैस भरी हुई हैं। दरअसल यह नोट इसलिए लिखा गया था ताकि मौत के बाद जब पुलिस अंदर प्रवेश करे तो कोई दुर्घटना न हो जाए।

डीसीपी साउथ वेस्ट (DCP South West) के मुताबिक रात 8:22 बजे वसंत विहार थाने की पुलिस को पीसीआर कॉल से सूचना मिली कि वसंत अपार्टमेंट सोसाइटी (Vasant Apartment Society) में फ्लैट नंबर-207 में कमरा अंदर से बंद है और घर के लोग नहीं खुल रहे हैं। डीसीपी साउथ वेस्ट (DCP South West) के मुताबिक, पुलिस को फोन आया कि वसंत अपार्टमेंट सोसाइटी (Vasant Apartment Society) के एक कमरे में अंदर से ताला लगा हुआ है।

आवाज करने के बाद भी कभी दरवाजा न खोलें। सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने दरवाजा तोड़ा तो घर में तीन लाशें पड़ी मिलीं। मंजू और उसकी दो बेटियों अंशिका और अंकू के शव भीतरी कमरे में बिस्तर पर पड़े थे। शुरुआती जांच के अनुसार तीनों की मौत दम घुटने से हुई है। कमरे का दरवाजा अंदर से बंद था और खिड़कियां भी बंद थीं।

आगे की जांच में पता चला कि घर में एक अंगीठी जल रही थी और गैस सिलेंडर आंशिक रूप से खुला हुआ था। पुलिस ने बताया कि मंजू के पति की अप्रैल 2021 में कोविड के कारण मौत हो गई थी। इस वजह से परिवार बहुत ज्यादा तनाव में रह रहा था। मंजू बीमारी के कारण बिस्तर पर पड़ी थी। हालांकि, पुलिस ने शवों को कब्जे में पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है। हर ऐंगल पर पुलिस के द्वारा आगे की जांच की जा रही है।

और पढ़ें
Next Story