Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का प्रयास रंग लाया, एक हजार सीएनजी डीटीसी बसें खरीदने का दिया आदेश

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल सरकार ने दिल्ली की परिवहन व्यवस्था को प्रभावी बनाने के मद्देनजर 1 हजार डीटीसी बसें खरीदने का आदेश शुक्रवार को दे दिया है। सभी बसें 20 सितंबर तक सड़क पर आ जाएंगी, दिल्ली में कुल बसों का बेड़ा अभी तक के उच्चतम स्तर 7693 पर पहुंच जाएगा।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का प्रयास रंग लाया, एक हजार सीएनजी डीटीसी बसें खरीदने का दिया आदेश
X

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल सरकार ने दिल्ली की परिवहन व्यवस्था को प्रभावी बनाने के मद्देनजर 1 हजार डीटीसी बसें खरीदने का आदेश शुक्रवार को दे दिया है। 12 साल बाद डीटीसी के बेड़े में 1 हजार बसें जुड़ेंगी। पिछली बार 2008 में डीटीसी बस खरीदने के आदेश दिए गए थे। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि सभी बसें 20 सितंबर तक सड़क पर आ जाएंगी। दिल्ली में कुल बसों का बेड़ा अभी तक के उच्चतम स्तर 7693 पर पहुंच जाएगा। वर्तमान में 4879 बसें हैं जिनमें से 1119 खराब हैं। इस समय 3760 बसें सड़क पर चल रही हैं। 1 हजार नहीं बसें शामिल होने के बाद डीटीसी का बेड़ा 4760 पर पहुंच जाएगा।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्विट किया कि बधाई हो दिल्ली! 12 साल के इंतजार के बाद डीटीसी द्वारा 1000 लो फ्लोर एसी सीएनजी बसों को शामिल करने के आदेश दिए गए हैं। ये सभी बसें 20 सितंबर तक सड़क पर आ जाएंगी। दिल्ली सरकार विश्व स्तर की सार्वजनिक परिवहन प्रणाली बनाकर प्रदूषण मुक्त दिल्ली के लिए प्रतिबद्ध है। इन 1000 बसों के साथ डीटीसी का बेड़ा 4760 तक बढ़ जाएगा। दिल्ली (DTC और क्लस्टर) में कुल बसों का बेड़ा अभी तक के उच्चतम स्तर 7693 पर पहुंच जाएगा। पिछले वर्षों में खरीद से जुड़ी कई बाधाओं के बावजूद हमारी सरकार फैसले पर कायम रही और खरीद का आदेश दिया गया।

दिल्ली परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने कहा कि दिल्ली की परिवहन व्यवस्था को दुनिया की सबसे बेहतरीन परिवहन व्यवस्था बनाने के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के संकल्प को आगे बढ़ाने के लिए हम दिन रात काम कर रहे हैं। इसी के तहत अथक प्रयासों से तमाम बाधाओं को पार कर 1 हजार एसी बसें आ रही हैं। इसके साथ ही डीटीसी को बंद करने की अफवाहों पर विराम लग गया है। हम शुरू से ही डीटीसी को मजबूत करने के काम में जुटे हुए हैं। डीटीसी दिल्ली के परिवहन व्यवस्था की रीढ़ की हड्डी है।

दूसरी तरफ 1 हजार बसों में से 700 बसें जेबीएम कंपनी से खरीदी जाएंगी। जबकि 300 बसें खरीदने का आदेश टाटा कंपनी को दिया गया है। दोनों कंपनियों को बसें खरीदने का आदेश बिड के आधार पर दिया गया है। 15 जनवरी को आदेश देने के बाद 16 सप्ताह के भीतर 80 बसें डीटीसी के बेडे में शामिल हो जाएंगी, जबकि 24 सप्ताह के भीतर 660 बसें डीटीसी में शामिल होंगी। सभी 1 हजार बसें सितंबर तक डीटीसी के बेड़े में शामिल करने की डेडलाइन है।

पिछले 2 साल में दिल्ली के परिवहन बेड़े में शामिल हुईं 1681 बसें

दिल्ली परिवहन निगम (DTC) ने 27 नवंबर 2020 को इससे पहले बोर्ड बैठक में 1250 वातानुकूलित बीएस -VI मानक आधारित सीएनजी लो-फ्लोर बसों की खरीददारी के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी थी। वर्तमान में डीटीसी और दिल्ली इंटीग्रेटेड मल्टी-मोडल ट्रांजिट सिस्टम (डीआईएमटीएस) दोनों मिलकर दिल्ली में 6599 बसों का संचालन करते हैं। जिनमें डीटीसी की 3760 बसें शामिल हैं। पिछले 2 वर्षों में दिल्ली के बस बेड़े में 1681 नई बसें शामिल हुईं हैं।

ये होगी बसों की खासियत

बीएस -VI मानक अनुपालित, वातानुकूलित बसें रियल-टाइम यात्री सूचना प्रणाली, सीसीटीवी, पैनिक बटन, जीपीएस और अन्य सुविधाओं से लैस होंगी। इन बसों में शारीरिक रूप से विकलांग लोगों के लिए भी उचित सुविधा उपलब्ध होंगी। भारत स्टेज (बीएस) एक उत्सर्जन मानक है जो मोटर वाहनों से वायु प्रदूषकों के उत्सर्जन की निगरानी और नियंत्रण में सहायक सिद्ध हो रहा है।

Next Story