Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

साढ़े पांच लाख रुपयों पर बिगड़ी सरपंच की नीयत: नकली स्टाम्प पेपर शो करने की भुगतनी पड़ेगी कीमत...

ग्राम पंचायत सुकली में 2 तालाब (ponds) का निर्माण किया गया। जिसमें गांव के विनोद सिंह द्वारा मैटेरियल सप्लाई किया गया। जिसकी राशि पांच लाख पचास हजार रुपये भुगतान के लिए सप्लायर द्वारा सरपंच से लगातार कहा जाता था। लेकिन सरपंच ने राशि का भुगतान न करके उल्टा फर्जी तरीके से नकली स्टांप पेपर (fake stamp paper) बना कर सहमति पत्र पेश कर दिया। जो जांच में नकली पाया गया। पढ़िए पूरी ख़बर...

साढ़े पांच लाख रुपयों पर बिगड़ी सरपंच की नीयत: नकली स्टाम्प पेपर शो करने की भुगतनी पड़ेगी कीमत...
X

मुंगेली: धोखाधड़ी मामले में लोरमी पुलिस के द्वारा बड़ी कार्रवाई की गई है जिसमें एक आरोपी को गिरफ्तार किया गया है। यह आरोपी ग्राम पंचायत सुकली का सरपंच नोहर सिंह राजपूत है। बता दें कि ग्राम पंचायत सुकली में 2 तालाब का निर्माण किया गया था। जिसमें गांव के ही निवासी विनोद सिंह राजपूत के द्वारा मैटेरियल सप्लाई किया गया था। जिसकी राशि पांच लाख पचास हजार रुपये का भुगतान के लिए सप्लायर के द्वारा सरपंच से लगातार कहा जाता था। लेकिन सरपंच के द्वारा राशि का भुगतान नहीं किया जा रहा था। जिसके कारण हताश होकर सप्लायर विनोद सिंह राजपूत के द्वारा न्यायालय का शरण लिया गया। जहां पर न्यायालय (Court) के द्वारा सरपंच नोहर सिंह राजपूत को मैटेरियल सप्लाई का भुगतान करने कहा गया था। लेकिन सरपंच मलनोहर सिंह के द्वारा फर्जी तरीके से नकली स्टांप पेपर(fake stamp paper) बना कर सहमति पत्र बनवाया गया था। जिसकी शिकायत विनोद सिंह राजपूत के द्वारा लोरमी थाने में अक्टूबर महीने में की गई थी। जिसकी जांच लोरमी पुलिस के द्वारा की जा रही थी। जांच में लोरमी पुलिस ने पाया कि सरपंच नोहर सिंह राजपूत के द्वारा धोखाधड़ी करते हुए नकली स्टांप पेपर बना कर सहमति पत्र दिया गया है। जिस पर धारा 420।467।468।471 के तहत मामला पंजीबद्ध कर आरोपी सरपंच नोहर सिंह राजपूत को गिरफ्तार किया गया है।

Next Story