Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

देश की सबसे लंबी फ्रेट ट्रेन 'वासुकी' भिलाई से कोरबा तक दौड़ी, 300 खाली वैगनों को एक साथ जोड़ा गया

दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के रायपुर डिवीजन ने देश की सबसे लंबी मालगाड़ी का परिचालन का कीर्तिमान स्थापित किया है। शुक्रवार को भिलाई डी केबिन से रायपुर-बिलासपुर-कोरबा के बीच 3.5 किलोमीटर लंबी पांच मालगाड़ियों के 300 वैगनों को एक साथ जोड़कर चलाई गई। इसे देश की सबसे लंबी फ्रेट ट्रेन कहा जा रहा है, जिसे रायपुर मंडल ने वासुकी नाम दिया है। इस वासुकी ट्रेन ने भिलाई डी केबिन से कोरबा स्टेशन तक का सफर 7 घंटे से भी कम समय में तय किया। इस प्रक्रिया में केवल 1 लोको पायलट, 1 सहायक लोको पायलट एवं 1 गार्ड की आवश्यकता पड़ी।

देश की सबसे लंबी फ्रेट ट्रेन वासुकी भिलाई से कोरबा तक दौड़ी, 300 खाली वैगनों को एक साथ जोड़ा गया
X

रायपुर. दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के रायपुर डिवीजन ने देश की सबसे लंबी मालगाड़ी का परिचालन का कीर्तिमान स्थापित किया है। शुक्रवार को भिलाई डी केबिन से रायपुर-बिलासपुर-कोरबा के बीच 3.5 किलोमीटर लंबी पांच मालगाड़ियों के 300 वैगनों को एक साथ जोड़कर चलाई गई। इसे देश की सबसे लंबी फ्रेट ट्रेन कहा जा रहा है, जिसे रायपुर मंडल ने वासुकी नाम दिया है। इस वासुकी ट्रेन ने भिलाई डी केबिन से कोरबा स्टेशन तक का सफर 7 घंटे से भी कम समय में तय किया। इस प्रक्रिया में केवल 1 लोको पायलट, 1 सहायक लोको पायलट एवं 1 गार्ड की आवश्यकता पड़ी।

रायपुर डिवीजन के अधिकारियों का कहना है कि यह भारतीय रेलवे के इतिहास में पहली बार है, जब 5 मालगाड़ियों को एक साथ जोड़कर 3.5 किलोमीटर लंबी ट्रेन चलाई गई हो। फ्रेट ट्रेनों का परिचालन कम समय में अधिक माल ढुलाई, क्रू-स्टाफ की बचत एवं उपभोक्ताओं को त्वरित डिलीवरी प्रदान करने के उद्देश्य को पूरा करेगा। इससे पहले दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे ने पिछले साल 29 जून को तीन लोडेड मालगाड़ियों को एक साथ जोड़कर लांग हॉल सुपर एनाकोंडा ट्रेन का परिचालन किया था। इसी कड़ी में वासुकी एक नया प्रयोग है, जिसे देश के लिए रेलवे के इतिहास में एक उपलब्धि बताया जा रहा है।

सुपर शेष नाग से भी लंबी

अगर 5 रैक को अलग-अलग परिचालन किया जाता, तो 5 लोको पायलट, 5 सहायक लोको पायलट एवं 5 गार्ड की आवश्यकता होती। सुपर शेष नाग में 1 लोको पायलट, 1 सहायक लोको पायलट व 1 गार्ड द्वारा इस कार्य को अंजाम दिया जा रहा है। फोर्थ लांग हॉल रैक के परिचालन से क्रू-स्टाफ की बचत, रेलवे ट्रैक का सही इस्तेमाल एवं उपभोक्ताओं को त्वरित डिलीवरी आसान होती है। इस प्रकार यह एक सराहनीय प्रयोग रायपुर मंडल की ओर से किया गया है।

सबसे बड़ी उपलब्धि

देश की सबसे लंबी 3.5 किमी फ्रेट ट्रेन वासुकी का परिचालन रायपुर रेलमंडल की सबसे बड़ी उपलब्धि है।

- डॉ. श्यामसुंदर गुप्ता, डीआरएम, रायपुर मंडल

Next Story