Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कोरबा में तेल का खेल, माफिया खुलेआम कर रहा है ऑपरेट

माफिया के ऑपरेट करने का स्टिंग वीडियो भी आया सामने, पुलिस का संरक्षण होने की कही बात। पढ़िए पूरी खबर-

कोरबा में तेल का खेल, माफिया खुलेआम कर रहा है ऑपरेट
X

कोरबा। कोयला चोरी के लिए पहले से कुख्यात कोरबा के दामन पर अब डीजल-पेट्रोल चोरी का भी दाग लग रहा है। दरअसल कोरबा में इंडियन आयल के डिपो से डीजल और पेट्रोल लेकर निकलने वाले टैंकरो से खुलेआम तेल निकाला जा रहा है। कमाल की बात ये है कि ये काला कारनामा रात के अंधेरे में नहीं बल्कि दिन के उजाले में होता है। इस दौरान माफियाओं की खुलेआम मनमानी भी नजर आती है। वे खुलेआम दावा करते हैं कि मेरी पुलिस से सेटिंग है, जिसे जो करना है कर ले।

इंडियन आयल कार्पोशन का टर्मिनल कोरबा में भी संचालित है। इस डिपो से रोजाना सैकड़ो टैंकरों में डीजल और पेट्रोल की रिफलिंग कर प्रदेश के साथ ही अन्य प्रांतो में पंपो के लिए गाड़ियों को बकायदा सील कर रवाना किया जाता है। दर्री थाना क्षेत्र के गोपालपुर में इंडियन आयल के टर्मिनल से महज एक किलोमीटर की दूरी पर ही मेन रोड पर डीजल माफियाओं ने यार्ड स्थापित कर रखा है। इस यार्ड में इंडियन आयल के डिपो से फ्यूल लेकर निकलने वाले टैंकरो से रात के अधेंरे में नही बल्कि दिन के उजाले में डीजल और पेट्रोल की खुलेआम चोरी कर तेल का खेल किया जा रहा है।

तेल के इस खेल की हकीकत जानने के प्रयास में जब इस पूरे गेम के मास्टर माइंड और सरगना पवन अग्रवाल से संपर्क किया गया तो कई चौकाने वाले खुलासे छिपे हुए कैमरे में रिकार्ड हुए और इस पूरे कारोबार में स्थानीय दर्री पुलिस और कुछ अफसरों का विशेष संरक्षण प्राप्त होने की बात सामने आई है।

सरगना पवन अग्रवाल के मुताबिक पहले भिलाई का बबली गैंग इस कारोबार को कोरबा में ऑपरेट करता था। लेकिन पैसों की डील को लेकर पुलिस से अनबन होने के बाद बबली गैंग ने कोरबा छोड़ दिया और फिर पवन अग्रवाल के गैंग को डीजल चोरी के कारोबार में पुलिस के कुछ अफसरों ने स्थापित किया है।

पवन अग्रवाल ने स्टिंग आपरेशन के वीडियो में इस बात का भी खुलासा करते दिख रहा है कि पुलिस से बातचीत पूरी हो गयी है, लेकिन कोरबा के पाली और चोटिया में भी टैंकरो से डीजल चोरी होने के कारण उनका काम बड़े पैमाने पर नहीं फैल पाया है, जिसके कारण पुलिस का रेट अभी फाईनल नहीं किया जा सका है। वहीं दूसरे क्षेत्रो में चल रहे डीजल की चोरी को बंद कराने में स्थानीय पुलिस अपना पल्ला झाड़ते हुए सिर्फ अपने थाना क्षेत्र में ही संरक्षण देने की बात कह रहे है। पवन अग्रवाल के इस स्टिंग विडियो के सामने आने के बाद एक बार फिर कोरबा पुलिस की खाकी पर अवैध कामों को संरक्षण देने का दाग लगता नज़र आ रहा है।

वही इस पूरे मामले में कोरबा एस.पी. अभिषेक मीणा ने कहा है कि- इस मामले की जानकारी मीडिया के जरिये हुई है। आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने बताया कि दर्री सीएसपी खोमन सिन्हा को मामले की जांच की जवाबदारी सौंपते हुए इस मामले में लिप्त लोगों के साथ ही डिपार्टमेंट के किसी भी व्यक्ति की संलिप्तता होने पर सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए गए हैं।

Next Story