Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कृषक कल्याण परिषद अध्यक्ष सुरेंद्र शर्मा बोले- कालीचरण RSS का छोड़ा हुआ तीर, साय ने कहा- आयोजक मंडली पर भी हो कार्रवाई

सुरेंद्र शर्मा ने आगे कहा कि कालीचरण बाबा पहले मॉडलिंग करते थे. मॉडलिंग में फेल हो गए तो साधु का वेश धारण कर लिया. बाबा कालीचरण का कारनामा छत्तीसगढ़ में नहीं चलेगा. इसमें साधु वाले कोई गुण नहीं है.

कृषक कल्याण परिषद अध्यक्ष सुरेंद्र शर्मा बोले- कालीचरण RSS का छोड़ा हुआ तीर, साय ने कहा- आयोजक मंडली पर भी हो कार्रवाई
X

बिलासपुर : धर्म संसद का बवाल थमने का नाम नहीं ले रहा है. कालीचरण के काली जुबान ने सियासी गलियारे में बवाल मचा दिया है. लगातार छोटे-बड़े सियासी चेहरों के अहम बयान सामने आ रहे हैं. राज्य कृषक कल्याण परिषद के अध्यक्ष सुरेंद्र शर्मा ने भी आज कालीचरण महाराज की जमकर क्लास ली. सुरेंद्र शर्मा ने कालीचरण महाराज को गरियाते हुए कहा कि कालीचरण आरएसएस का छोड़ा हुआ तीर है.


सुरेंद्र शर्मा ने आगे कहा कि कालीचरण बाबा पहले मॉडलिंग करते थे. मॉडलिंग में फेल हो गए तो साधु का वेश धारण कर लिया. बाबा कालीचरण का कारनामा छत्तीसगढ़ में नहीं चलेगा. इसमें साधु वाले कोई गुण नहीं है. काल नेमी भी ऐसे ही साधु बनकर आया था. गौतम ऋषि की नारी के लिए इंद्र भी साधु बनकर आया था. बाबा कालीचरण को अपशब्द टिप्पणी के लिए बड़ा दंड मिलना चाहिए. ताकि समाज में संदेश जा सके की महापुरुषों पर अभद्र टिप्पणी करना अनुचित है.



बलरामपुर : इधर फुटबॉल टूर्नामेंट के एक मैच में बलरामपुर पहुंचे भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय का अहम बयान सामने आया है. विष्णुदेव साय ने कहा कि हम भी कालीचरण के टिप्पणी के खिलाफ हैं, मगर संत के खिलाफ एकतरफा कार्रवाई सही नहीं है. मुख्यमंत्री में हिम्मत है तो आयोजन मंडली पर भी कार्रवाई करें.

बता दें कि धर्म संसद में महात्मा गांधी पर आपत्तिजनक टिप्पणी मामले में रायपुर पुलिस ने कालीचरण महाराज के खिलाफ अतिरिक्त धाराएं जोड़ दी है. पुलिस ने कालीचरण पर नफरत, धार्मिक व सामाजिक सौहार्द बिगाड़ने संबंधी धाराएं जोड़ी है. पुलिस ने मंगलवार की देर रात 153 ए और 295 ए के तहत धाराएं जोड़ी है. इससे पहले कालीचरण के खिलाफ 294 और 505(2) के तहत मामला दर्ज किया गया था.



Next Story